प्लाज्मा, ब्लड, और दवाओं के अलावा अन्य जरूरतों के लिए आरएसएस के हेल्पलाइन नंबर पर करें फोन

130 चिकित्सक हेल्पलाइन नंबर पर दे रहे हैं चिकित्सकीय परामर्श।

कोरोना की दूसरी लहर के बीच सरकार और प्रशासन के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं वहीं आरएसएस एवं उससे जुड़े संगठन समाज सेवा कर रहे हैं। सेवा भारती के द्वारा दिल्ली में लोगों को राशन दवाएं प्लाज्मा रक्त और अन्य अपरिहार्य जरुरत पूरी की जा रही है।

संवाददाता, नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर के बीच एक तरफ जहां सरकार और प्रशासन के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उससे जुड़े संगठन लगातार समाज सेवा कर रहे हैं। सेवा भारती के द्वारा दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर लोगों को राशन, दवाएं, प्लाज्मा, रक्त और अन्य अपरिहार्य जरुरत पूरी की जा रही है। इसके लिए सेवा भारती ने हेल्पलाइन नम्बर- 8010066066 जारी किया है। हेल्पलाइन के जरिए डॉक्टरों से परामर्श (टेलीमेडिसिन), भोजन के पैकेट, बाजार में उपलब्ध दवाएं आदि उपलब्ध करवाई जा रही हैं।

ताजा जानकारी के मुताबिक अब तक हेल्पलाइन नंबर के जरिए 45,650 कॉल मिल चुकी हैं। इसी तरह प्लाज्मा के लिए 7,600 अनुरोध आया है। हेल्पलाइन से मिले कॉल के अनुसार 437 लोगों को प्लाज्मा का सहयोग किया गया। इस पूरे अभियान में 130 डॉक्टरों का सहयोग मिला है, जो लोगों को जरूरी चिकित्सकीय परामर्श भी दे रहे हैं। जबकि 850 कार्यकर्ता हेल्पलाइन के जरिए फोन रिसीव करने व अग्रेषित करने में जुटे हैं।

उल्लेखनीय है कि उत्कर्ष भारत की डिजिटल हेल्पलाइन भी प्रारम्भ की है। हेल्पलाइन सेवा से प्राप्त कॉल के बाद जिले और नगरों में संबंधित कार्यकर्ता जरुरतमंद व्यक्ति से बात कर आवश्यक सामग्री और सहयोग उपलब्ध कराते हैं। इस कार्य को संघ के स्वयंसेवक कोरोना की गाइडलाइंस का पालन करते हुए कर रहे हैं। ख़ास बात यह है कि कोविड-19 की दूसरी लहर से पैदा हुई वीभीषिका के वक्त संघ के स्वयंसेवकों के द्वारा किए जा रहे इन सेवा कार्यों को देखकर समाज के लोग बड़ी संख्या में सेवा भारती व अन्य संगठनों के साथ जुड़कर लोगों के सहयोग के लिए आगे आ रहे हैं।

अशोक विहार में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर संचालित किया जा रहा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं सेवा भारती के द्वारा अशोक विहार के लक्ष्मी बाई कॉलेज में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर संचालित किया जा रहा है। इस कोविड केयर सेंटर में कोविड वायरस से संक्रमित ऐसे मरीजों को रखा गया है जो बहुत अधिक गंभीर नहीं हैं। इस प्रकल्प में महाविद्यालय की कक्षाओं को कोविड वार्ड में तब्दील कर दिया गया है। सेंटर में ऑक्सीमीटर, दवाएं, ग्लूकोज चढ़ाने समेत अनेक सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। जल्द ही इसे 200 बेड तक विस्तारित किया जाएगा।

ख़ास बात यह है कि ऑक्सीजन कंसट्रेटर्स की व्यवस्था भी कोविड केयर सेंटर में की गई है। यहां हर दिन ओपीडी संचालित की जाती है, जिसमें हर दिन लगभग 100 मरीज आते हैं। उल्लेखनीय हैं कि सेवा भारती द्वारा देशभर में डेढ़ लाख से अधिक सेवा प्रकल्प संचालित किए जा रहे हैं।