हर्ड इम्युनिटी ही बच्चों को तीसरे लहर से रखेगी सुरक्षित

कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।

कोरोना से अछूते रहे बच्चे इस लहर का शिकार हो सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि बच्चों की कोरोना वैक्सीन आने के बाद इसे लगाने के काम में तेजी लाए जाए। जितनी जल्दी हो सके बच्चों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जाएजिससे बच्चों में हर्ड इम्युनिटी विकसित हो।

नई दिल्ली/नोएडा । जैसा की पहले से ही आशंका व्यक्त की जा रही है कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। कोरोना से अछूते रहे बच्चे इस लहर का शिकार हो सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि बच्चों की कोरोना वैक्सीन आने के बाद इसे लगाने के काम में तेजी लाए जाए। जितनी जल्दी हो सके बच्चों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जाए,जिससे बच्चों में हर्ड इम्युनिटी विकसित हो। ये बातें एकेडमी आफ पीडियाट्रिक (आइएपी) नोएडा के अध्यक्ष डॉ. एसपी शर्मा ने कहीं। जिन घरों में दो से 18 की आयु के बीच बच्चे हैं। उनकी पहले से लिस्ट तैयार की जाए, जिससे वैक्सीनेशन के दौरान परेशानी न हो, क्योंकि अभी बड़ों के वैक्सीनेशन की प्रक्रिया काफी धीमी है। यह नुकसानदायक साबित हो रही है। साथ ही बच्चों को कहां पर वैक्सीन लगानी है इसपर ध्यान देना होगा।

वैक्सीनेशन के लिए पहले से जरूरी एप तैयार कर लिया जाए। इसपर बच्चों का डाटा दर्ज किया जाए, जिससे बच्चों का वैक्सीनेशन आसानी से हो सके। वैक्सीनेशन के दौरान पीडियाट्रिक एसोसिएशन की मदद ली जा सकती है। वैक्सीन आने के बाद सरकार को जल्द से इसे बच्चों को लगाने पर ध्यान देना होगा।

स्वजन के सुरक्षित रहने से बच्चे रहेंगे सुरक्षित

स्वजन को भी बच्चों के साथ खुद के वैक्सीनेशन में ढील नहीं देनी है। बाहर जाते समय व घर वापसी के दौरान नहाने के बाद ही बच्चों को हाथ लगाए या छुएं। अगर घर में कोई संक्रमित है, तो बच्चों को संक्रमित से बिल्कुल दूर रखे। स्तनपान के दौरान महिलाएं मास्क लगाकर रखें। खुद का वैक्सीनेशन जरूर करवाएं। हर्ड इम्युनिटी के साथ संक्रमण से बचाव का तरीका बच्चों को कोरोना से बचा सकता है।

बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए जरूरी बातें :

  • बच्चों को मास्क पहनाकर रखें।
  • शारीरिक दूरी का पालन करने को कहें।
  • हैंड सैनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रखें।
  • बच्चों को टहलाने के लिए पार्क नहीं ले जाए।
  • फास्ट फूड के बजाए पौष्टिक खाने पर ध्यान दें।
  • बच्चों को डॉक्टर की सलाह पर इम्युनिटी बढ़ाने के लिए मल्टीविटामिन दें।