गोवा में कोरोना से मौत के आंकड़ों को लेकर सियासी घमासान, विपक्ष ने उठाए सवाल
गोवा में कोरोना से मौत के आंकड़ों को लेकर सियासी घमासान, विपक्ष ने उठाए सवाल

गोवा में 24 घंटे में 55 कोरोना संक्रमितों की मौत और 2303 लोगों के पाजिटिव पाए जाने के आंकड़े को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। मामले में विपक्ष ने राज्य सरकार को घेरा है वहीं मुख्यमंत्री ने इस मामले में सफाई दी।

पणजी, आइएएनएस। गोवा में 24 घंटे में 55 कोरोना संक्रमितों की मौत और 2,303 लोगों के पाजिटिव पाए जाने के आंकड़े को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। इन आंकड़ों के सामने आने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे संशोधित करते हुए कहा कि शनिवार को जारी उक्त आंकड़ों में तकनीकी गलती से मौत के 14 पुराने मामले जुड़ गए थे।

विपक्ष ने सरकार को कटघरे में खड़ा किया

स्वास्थ्य मंत्रालय के इस बयान के बाद विपक्ष ने सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। विधायक सुदिन धवलिकर ने तो बांबे हाई कोर्ट से इस मामले का स्वत: संज्ञान लेकर राज्य में लाकडाउन की अवधि कुछ दिनों के लिए और बढ़ाने की अपील तक कर दी। वहीं, विपक्ष के नेता दिगंबर कामत ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार शुक्रवार को हुई मौतों को छिपाने का प्रयास कर रही है।

मुख्यमंत्री ने दी सफाई

सरकार ने इससे पहले कितनी बार कोरोना से हुई मौतों को छिपाया है। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को इस मामले में लोगों के सामने आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए। गौरतलब है कि राज्य में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए लागू किए गए लाकडाउन की अवधि सोमवार सुबह समाप्त हो रही है। विपक्ष सरकार पर अभी इसे और बढ़ाने का दबाव बना रहा है।