ममता के बारे में बरमूडा वाले बयान को लेकर दिलीप घोष के खिलाफ एफआइआर

 

बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के खिलाफ एक तृणमूल नेता ने थाने में एफआइआर दर्ज कराया है।

बंगाल भाजपा अध्यक्ष ने जिस सभा में यह विवादास्पद बयान दिया था पुलिस ने उसके वीडियो फुटेज के आधार पर मामले की जांच शुरू की। बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के खिलाफ एक तृणमूल नेता ने थाने में एफआइआर दर्ज कराया है।

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के बारे में बरमूडा वाले विवादास्पद बयान को लेकर बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के खिलाफ एक तृणमूल नेता ने थाने में एफआइआर दर्ज कराया है। दिलीप घोष ने जिस सभा में यह विवादास्पद बयान दिया था, पुलिस ने उसके वीडियो फुटेज के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है। एफआइआर मानबाजार दो नंबर ब्लॉक के अध्यक्ष सुजीत कुमार महतो की ओर से पुरुलिया जिले के बोरो थाने में दर्ज कराया गया है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम में चोटिल हो गई थीं। उनके पैर में प्लास्टर भी चढ़ा था। दिलीप घोष ने इस पर बयान देते हुए कहा था कि उनके पैर का प्लास्टर काटा जा चुका है। और बैंडेज लगाया गया है। वह सबको बार-बार अपना चोटिल पैर दिखा रही हैं। अगर उन्हें अपना चोटिल पैर ही दिखाना है तो साड़ी पहनने की जगह बरमूडा पहन लें।

सुजीत कुमार महतो ने कहा कि बंगाल की लड़की का इस तरह से अपमान जंगलमहल के लोग बर्दाश्त नहीं कर पाए इसलिए यहां तृणमूल कांग्रेस की इतनी बड़ी जीत हुई है। तृणमूल नेताओं ने भी दिलीप घोष के बयान की कड़ी आलोचना करते हुए इसे चुनावी मुद्दा तक बनाया था राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इससे तृणमूल कांग्रेस को चुनाव में काफी फायदा भी हुआ है। आम लोगों को दिलीप घोष का यह बयान रास नहीं आया और उन्होंने ममता के समर्थन में मतदान करके अपनी नाराजगी जाहिर की।