राज्‍यों के कई माननीय भी कोरोना से हार चुके हैं जंग

 


कोरोना की भेंट चढ़ गए कई माननीय

कोरोना से आम इंसान से लेकर खास तक हर कोई प्रभावित हुआ है। इसकी चपेट में आकर कइ्र माननीय भी अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं। बिहार हो या उत्‍तर प्रदेश हर राज्‍य में विधानसभा ने अपने मौजूदा और पूर्व सदस्‍यों को खोया है।

नई दिल्‍ली (ऑनलाइन डेस्‍क)। भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर से आम और खास दोनों ही बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। सरकार का हिस्‍सा बनने वाले भी इसकी चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं। उत्‍तर प्रदेश की ही बात करें तो यहां पर अब तक विधानसभा के पांच सदस्‍य कोरोना की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। इनमें औरेया के विधायक रमेश चंद्र दिवाकर, (निधन 23 अप्रैल 2021), लखनऊ पश्चिम से विधायक रहे सुरेश कुमार श्रीवास्‍तव (निधन: 23 अप्रैल 2021), नवाबगंज से विधायक केसर सिंह (निधन: 28 अप्रैल 2021), रायबरेली जिले के सलोन विधानसभा क्षेत्र से विधायक दल बहादुर का (निधन: 7 मई 2021), सरकार में राज्य मंत्री विजय कश्यप (निधन: 19 मई 2021) का नाम शामिल है।

राज्‍य में अब तक तीन मंत्री इस महामारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। इससे पहले पिछले वर्ष भी कोरोना की वजह से दो विधायकों की जान चली गई थी। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह का भी निधन कोविड की चपेट में आकर हो गया था। आपको यहां पर ये भी बता दें कि राज्‍य की 17वीं विधानसभा के लिए चुनकर आने वालों में से अब तक एक दर्जन विधायकों का निधन हो चुका है।

राजस्‍थान

इसी तरह से राजस्‍थान की धरियावाद विधानसभा सीट से से भाजपा विधायक गौतमलाल मीणा और इससे पहले वल्लभनगर सीट कांग्रेस विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के निधन भी इस महामारी की चपेट में आकर हो चुका है। इसी वर्ष की शुरुआत में राज्‍य में कांग्रेस के विधायक गजेंद्र सिंह शेखावत का महज 48 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। इनसे पहले सुजानगढ़ सीट से कांग्रेस विधायक मास्टर भंवरलाल मेघवाल, सहारा सीट से कैलाश त्रिवेदी, राजसमंद सीट से भाजपा विधायक किरण माहेश्वरी का भी निधन इस महामारी की चपेट में आकर हो चुका है।

केरल

इस वर्ष की बात करें तो 19 जनवरी को केरल के विधायक केवी विजयदाय का कोविड की चपेट में आकर निधन हो गया था। वो 61 वर्ष के थे और सीपीआई-एम पार्टी के कोंघाड विधानसभा सीट से विधायक थे। 

बिहार

इसी तरह से बिहार में 19 अप्रैल को तारकपुर विधानसभा सीट से विधायक मेवालाल चौधरी और विधान परिषद के सदस्‍य भाजपा के एमएलसी हरी नारायण चौधरी का 1 मई को कोरोना की चपेट में आकर निधन हो गया था।

मध्‍य प्रदेश

10 मई 2021 को सतना जिले की रैगांव विधानसभा सीट से भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी का भी कोविड की चपेट में आकर निधन हो गया था। वो इस सीट से पांच बार विधायक चुने गए थे। इससे पहले 24 अप्रैल 2021को अलीराजपुर जिले के जोबट क्षेत्र की कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया का एक निजी अस्पताल में निधन हो गया था। वो महज 49 वर्ष की थीं। पृथ्वीपुर से कांग्रेस विधायक बृजेन्द्र सिंह राठौर का 2 मई को कोरोना की वजह से निधन हो गया था।

16 मई को वरिष्ठ कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद राजीव सातव का निधन हो गया गया था। सातव 22 अप्रैल को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे।