कोयंबटूर के मंदिर में वायरस 'कोरोना' की मूर्ति स्थापित, पूजा अर्चना के साथ महामारी को रोकने की हुई प्रार्थना

 

कोयंबटूर के मंदिर में घातक वायरस 'कोरोना' की हुई पूजा अर्चना

घातक कोरोना वायरस को देवी मान कोयंबटूर के एक मंदिर में आज पूजा-अर्चना की गई और प्रार्थना किया गया कि दुनिया को महामारी से निजात मिले। बता दें कि सोमवार को देश भर में मौतेां का आंकड़ा 3 लाख के पार चला गया है।

कोयंबटूर, एएफपी। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत के कोयंबटूर स्थित एक मंदिर में बुधवार को घातक वायरस 'कोरोना' को भगवान के रूप में  पूजा गया और प्रार्थना की गई।   यहां के कामतचीपुरी अधनम मंदिर में इस उम्मीद के साथ पूजा की जा रही है कि महामारी से दुनिया को निजात मिल सकेगी। मंदिर के प्रबंधक आनंद भारती (Anandbharathi K)  ने कहा, 'हिंदू धर्म में अलग-अलग भगवान को विभिन्न कामों के लिए पूजा जाता है। उदाहरण के लिए भगवान ब्रह्मा सृष्टि के रचयिता, भगवान विष्णु दुनिया के जगत के पालन हार और भगवान शिव संहार के देवता माने जाते हैं वैसे ही कोरोना वायरस से संक्रमण फैल रहा है। हम देवी के रूप में वायरस की पूजा कर रहे हैं और प्रार्थना कर रहे हैं कि यह बीमारी के असर और संक्रमण के फैलने पर रोक लगाए। ' 

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते 24 घंटों में 2,08,921 नए कोरोना संक्रमण के मामले आए और 4 ,157 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 2,71,57,795 हो गई और मरने वालों का आंकड़ा  3,11,388 है। देश में अभी कुल 24,95,591  सक्रिय मामले हैं वहीं स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा  2,43,50,816 हो गया है। 16 जनवरी से देश में शुरू किए गए वैक्सीनेशन के व्यापक अभियान के तहत अब तक कुल  20,06,62,456 डोज दिए जा चुके हैं। सोमवार को भारत ने कोरोना संक्रमितों के मौतों के 3 लाख क आंकड़े को पार कर लिया था और अमेरिका व ब्राजील के बाद 3 लाख से अधिक कोरोना संक्रमितों की मौत वाला देश बन गया। बीते 15 दिनों में भारत में 60,000 से अधिक मौतें हुई।