मालदीव पुलिस ने नशीद पर हमले को आतंकी कृत्य बताया, अब तक संदिग्ध की नहीं हुई है पहचान

 

मालदीव की पुलिस ने नशीद पर हमले को आतंकी कृत्य बताया

मालदीव पुलिस ने विस्फोट में पूर्व राष्ट्रपति मुहम्मद नशीद जख्मी हो गए। अभी इस मामले में किसी संदिग्ध की पहचान नहीं हो पाई है। इस घटना को पुलिस ने आतंकी कृत्य करार दिया है।वहीं ऑस्ट्रेलियाई पुलिस ने कहा कि वह नशीद पर हमले की जांच में मदद को तैयार है।

माले, एपी। मालदीव  की पुलिस ने विस्फोट में पूर्व राष्ट्रपति मुहम्मद नशीद  के घायल होने की घटना को आतंकी कृत्य करार दिया है। हालांकि अभी तक किसी संदिग्ध की पहचान नहीं हो पाई है। जबकि ऑस्ट्रेलिया की पुलिस ने कहा कि वह नशीद पर हमले की जांच में मदद करने को तैयार है। नशीद गुरुवार रात घर के बाहर हुए विस्फोट में घायल हो गए थे। उनका राजधानी माले के अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्हें खतरे से बाहर बताया गया है।

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहीम मुहम्मद सोलिह ने टेलीविजन संबोधन में कहा कि नशीद पर हमला देश के लोकतंत्र और अर्थव्यवस्था पर हमला है। उन्होंने यह भी बताया कि ऑस्ट्रेलियाई फेडरल पुलिस के जांचकर्ता शनिवार को मालदीव पहुंचेंगे और जांच में मदद करेंगे। जबकि पुलिस ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि वह विस्फोट की घटना को आतंकी कृत्य मानकर चल रही है। हालांकि धमाके की अभी तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है। गृहमंत्री इमरान अब्दुल्ला ने बताया कि पूर्व राष्ट्रपति नशीद खतरे से बाहर हैं। उनका इलाज चल रहा है।

2008 में चुने गए थे राष्ट्रपति

53 वर्षीय नशीद इस समय संसद के स्पीकर हैं। वह 2008 में लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित होने वाले मालदीव के पहले राष्ट्रपति बने थे, लेकिन बाद में जन विरोध के चलते उन्हें 2012 में इस्तीफा देना पड़ा था। नशीद 2019 में संसद के स्पीकर चुने गए। वह धार्मिक कट्टरपंथ के मुखर विरोधी हैं।