देश में कुछ ही हफ्तों में शुरू किया जा सकता है मिक्स वैक्सीन का ट्रायल, सरकार ने जानकारी दी

 

देश में कुछ ही हफ्तों में कोरोना की रोकथाम को लेकर एक बड़ा ट्रायल शुरू किया जा सकता है।

वैक्सीन पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के तहत कोविड-19 कार्य समूह के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने सोमवार को बताया कि देश में जल्द ही कोविड वैक्‍सीन की अलग अलग खुराकों को एक साथ मिलाकर परीक्षण किया जाएगा।

नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश में कुछ ही हफ्तों में कोरोना की रोकथाम को लेकर एक बड़ा ट्रायल शुरू किया जा सकता है। वैक्सीन पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के तहत कोविड 19 कार्य समूह के अध्यक्ष  डॉ. एनके अरोड़ा ने सोमवार को बताया कि देश में जल्द ही कोविड वैक्‍सीन की दो अलग अलग खुराकों को एक साथ मिलाकर परीक्षण किया जाएगा। 

अरोड़ा ने बताया कि यह ट्रायल यह देखने के लिए किया जाएगा कि क्या यह कोरोना वायरस के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ावा देने में मदद करता है या नहीं... यह ट्रायल कुछ हफ्तों में शुरू किया जा सकता है।

डॉ. एनके अरोड़ा ने बताया कि सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने एक पत्र में उल्लेख किया है कि जून से वह 10-12 करोड़ कोविड वैक्‍सीन की खुराक का उत्‍पादन करेंगे। सीरम की ओर से उत्‍पादन में यह लगभग 50 फीसद की बढ़ोतरी है। इसी तरह भारत बायोटेक भी अपनी वैक्‍सीन (Covaxin) का उत्पादन बढ़ाने जा रही है। जुलाई के अंत तक वह भी 10 से 12 करोड़ डोज तक का उत्पादन करेगी।

वैक्सीन पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के तहत कोविड 19 कार्य समूह के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने यह भी बताया कि अगस्त तक देश के पास प्रति माह 20-25 करोड़ टीके की खुराक होगी। अन्य निर्माण इकाइयों से 5 से 6 करोड़ खुराक उपलब्‍ध होने की उम्‍मीद है। उन्‍होंने यह भी बताया कि यदि उनको अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन की खुराक मिलती है तो प्रतिदिन एक करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जा सकता है।