पाकिस्तान में ईश निंदा आरोपी को मारने के लिए थाने में घुसी भिड़, हत्या के इरादे से किया हमला

 

ईश निंदा आरोपी की हत्या के इराजे से थाने में घुसी थी भीड़। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

आरोपी को मारने के लिए भीड़ ने थाने पर हमला कर दिया और वहां जमकर तोड़फोड़ की गई। बाद में भारी संख्या में पुलिसबल आने के बाद ही थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों और आरोपी की जान बचाई गई।

इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान में ईश निंदा के एक मामले में आरोपी को मारने के लिए भीड़ ने थाने पर ही हमला कर दिया। वहां जमकर तोड़फोड़ की गई। पुलिस और आरोपी को जान बचाना मुश्किल हो गया। भीड़ के हाथों में लाठी, डंडों और लोहे की सरिया के साथ हथियार भी थे। ये सभी आरोपी की हत्या कर दंड देना चाहते थे।

बाद में भारी संख्या में पुलिसबल आने के बाद ही थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों और आरोपी की जान बचाई गई। पूरे क्षेत्र में तनाव हो गया है। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पैदल मार्च भी किया। ईश निंदा में गिरफ्तार व्यक्ति की जानकारी नहीं दी गई है। पुलिस के अनुसार हमला इस्लामाबाद के गोलरा पुलिस स्टेशन पर किया गया है।

ज्ञात हो कि ईश निंदा कानून में पाक ने कड़े प्रावधान किए हुए हैं। इस अपराध के आरोपियों की मॉब लिंचिंग की घटनाएं पाकिस्तान में आम हैं। आरोपियों को कट्टरपंथी खुद ही दंड देने पर आमादा हो जाते हैं। पाक में मौजूदा हालात में इस कानून का अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के लिए हथियार के रूप इस्तेमाल किया जा रहा है। ईश निंदा कानून औपनिवेशिक काल का कानून हैं। तानाशाह जिया उल हक के कार्यकाल में इस कानून में कड़े प्रावधान किए गए थे।