दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कोविड केयर सेंटर में मरीजों से की मुलाकात

 

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने रामलीला मैदान में बनाए गए कोविड केयर सेंटर का दौरा किया

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने देर रात लोकनायक अस्पताल से संबद्ध कर रामलीला मैदान में बनाए गए कोविड केयर सेंटर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने वहां कोरोना मरीजों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 नई दिल्ली,  संवाददाता। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने देर रात लोकनायक अस्पताल से संबद्ध कर रामलीला मैदान में बनाए गए कोविड केयर सेंटर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने वहां कोरोना मरीजों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस बीच उन्होंने सेंटर में भर्ती मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। जैन पीपीई किट पहनकर मरीजों से मिलने पहुंचे। उनके साथ लोकनायक अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डाक्टर सुरेश कुमार व अन्य डाक्टर व स्वास्थ्यकर्मी मौजूद रहे। उन्होंने मरीजों के अलावा उनके स्वजनों से भी फोन पर बात की। 

सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर बताया कि सभी मरीजों के स्वजनों ने कोविड केयर सेंटर में लोकनायक अस्पताल द्वारा उपलब्ध कराई गई सुविधाओं व इलाज पर संतोष जताया। उल्लेखनीय है कि रामलीला मैदान में कोरोना मरीजों के लिए 500 बेड का आइसीयू कोविड केयर सेंटर बनाया गया हैं। जहां कोरोना के मरीज भर्ती हैं।

कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को सामान पहुंचाने की व्यवस्था कर रहा प्रशासन

कोरोना महामारी को हराने के लिए प्रशासन के चौतरफा तैयारियां की हुई हैं, जिसके चलते अब दिल्ली में केसों की संख्या कम हो रही हैं। हालांकि कंटेनमेंट जोन कम नहीं हो रहे हैं। ऐसे में प्रशासन कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों का पूरा खयाल रख रहा है। लोगों को वह सब जरूरत की वस्तुएं प्रशासन की ओर से पहुंचाई जा रही हैं, जिनकी उन्हें जरूरत है। मध्य जिला प्रशासन की ओर से पुरानी दिल्ली में विशेष खयाल रखा जा रहा है।जिले के प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि पुरानी दिल्ली के दरियागंज, बल्लीमारन, चांदनी चौक और कश्मीरी गेट इलाके की लगातार निगरानी की जा रही है।इलाके में कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों की शिकायत पर उन तक सामान पहुंचाया जा रहा है। एडीएम ने बताया कि लोग फल और सब्जी को लेकर लगातार मांग कर रहे हैं। इसके बाद अब व्यवस्था की गई है कि लोगों के पास तक सब्जी पहुंच सके। सब्जी के पैकेट, फल व अन्य पैकेट बनाकर लोगों के घरों के बाहर रख दिए जा रहे हैं, जिन्हें खुद लोग उठाकर ले जाते हैं। प्रशासन की इस व्यवस्था की स्थानीय लोग तारीफ भी कर रहे हैं। वहीं, प्रशासन समाजिक संस्थाओं के संग मिलकर यह काम कर रहा है, जिससे लोगों की जरूरतें पूरी हो पा रही हैं।