चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी करते दो गिरफ्तार

Delhi : चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी करते दो गिरफ्तार

उत्तरी जिले के पुलिस उपायुक्त अंटो अल्फोंस ने बताया कि वाहन चोरी निरोधक दस्ता की टीम ने ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर व ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले माडल टाउन नवासी हर्षित गुप्ता को गिरफ्तार किया है। इसके पास से चार ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर और नौ ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद हुए हैं।

नई दिल्ली,  संवाददाता। उत्तरी जिला पुलिस ने चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी करने के आरोप में अलग-अलग थाना क्षेत्र से दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उत्तरी जिले के पुलिस उपायुक्त अंटो अल्फोंस ने बताया कि वाहन चोरी निरोधक दस्ता की टीम ने ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर व ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले माडल टाउन नवासी हर्षित गुप्ता को गिरफ्तार किया है। इसके पास से चार ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर और नौ ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद हुए हैं। पुलिस टीम को सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति माडल डाउन में एक ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर सवा लाख रुपये से अधिक की कीमत में बेच रहा है।

सूचना पर एसीपी कोतवाली उमा शंकर के नेतृत्व में एसआइ राजपाल, हवलदार मुनेश, संदीप की टीम का गठन किया गया। मुनेश ने नकली ग्राहक बन आरोपित से एक ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर लेने की बात कही। आरोपित ने सवा लाख रुपये में कंसेंट्रेटर देने के लिए तैयार हुआ । जैसे ही आरोपित कंसेंट्रेटर देने के लिए वजीराबाद फ्लाई ओवर के पास आया। पुलिस ने उसे दबोच लिया। पूछजाछ में आरोपित नें बताया कि वह पटपड़गंज निवासी अनवर मलिक नाम से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर और ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदकर ब्लैक करता था।

वहीं एक दूसरे मामले में वजीराबाद थाना पुलिस ने ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की कालाबाजारी करने के आरोप में गीता कालोनी निवासी अमित बजाज को गिरफ्तार किया है। आरोपित वह सवा लाख से एक लाख 35 हजार रुपये में कंसंट्रेटर बेच रहा था। इसके पास से पांच ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद किए हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी की एक व्यक्ति ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की कालाबाजारी कर रहा है।

सूचना के बाद पुलिस ने आरोपित से संपर्क कर ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर 1.35 लाख में खरीदने के लिए कहा गया। वह तैयार हो गया। आरोपित ने आर्य समाज रोड मालवीय नगर में कंसेंट्रेटर देने का वादा किया। पुलिस टीम वहां पर पहुंची इस दौरान वहां पर दो युवक ऑक्सीजन कंसेंट्रटर लेकर पहुंचे। दोनों ने बताया कि वह शैलेंद्र नाम के एक व्यक्ति के लिए काम करते हैं। शैलेंद्र से पूछताछ हुई तो उसने बिल दिखाकर बताया कि उसने 1.35 लाख का कंसेंट्रेटर गीता कालोनी निवासी अमित बजाज से लिया है। इसकी निशानदेही पर पुलिस ने अमित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अन्य तीन लोगों की भूमिका की अभी जांच कर रही है।