भारतीय टेस्ट टीम में इस गेंदबाज को मौका नहीं मिलने से हैरान हैं आकाश चोपड़ा, कहा- रिस्ट स्पिनर बुरे नहीं होते

भारतीय टेस्ट टीम के साथ स्पिनर कुलदीप यादव (एपी फोटो)
भारतीय टेस्ट टीम में कुलदीप यादव को जगह नहीं दिए जाने के पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने थोड़ा मुश्किल करार दिया। ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर बात करते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा कि मुझे ऐसा लगता है कि कुलदीप को टीम में शामिल नहीं किया जाना निराश करने वाला है।

नई दिल्ली। भारतीय चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव का इंटरनेशनल क्रिकेट करियर इन दिनों ज्यादा अच्छा नहीं चल रहा है। साल 2017-18 में ये भारतीय रिस्ट स्पिनर टीम का नियमित सदस्य था, लेकिन 2019 वनडे वर्ल्ड कप के बाद उनका करियर ग्राफ नीचे गिरता चला गया। इसके बाद उन्होंने अपना फॉर्म गंवा दिया और एम एस धौनी की विकेट के पीछे गैरमौजूदगी से भी उनकी गेंदबाजी पर काफी फर्क पड़ा। शुक्रवार को जब बीसीसीआइ ने आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप और इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाले पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए जिन 20 सदस्यीय टेस्ट टीम की घोषणा की उसमें कुलदीप यादव का नाम नहीं था। यहां तक की स्टैंडबाई खिलाड़ियों में भी उनका नाम शामिल नहीं किया गया।  

अब भारतीय टेस्ट टीम में कुलदीप यादव को जगह नहीं दिए जाने के पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने थोड़ा मुश्किल करार दिया। ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर बात करते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा कि, व्यक्तिगत तौर पर मुझे ऐसा लगता है कि, कुलदीप को टीम में शामिल नहीं किया जाना निराश करने वाला है। उन्होंने ज्यादा क्रिकेट नहीं खेला है और इस आधार पर उन्हें लेकर कोई राय बनाना शायद सही नहीं है। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ एक बेहद कठिन विकेट पर सिर्फ एक ही टेस्ट मैच खेला था और कुछ विकेट भी हासिल किए थे। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पिंक बॉल टेस्ट मैच नहीं खेला और अब वो टेस्ट सीरीज से ही बाहर कर दिए गए। 

आकाश चोपड़ा ने कहा कि, ना तो उन्हें वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप और साथ ही साथ इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए ही टीम में जगह दी गई। कोविड-19 महामारी के बीच हर जगह एक बड़ी टीम भेजी जा रही है तो ऐसे में कुलदीप यादव क्यों नहीं टीम में जगह पा सकते हैं। आपने टीम में चार स्पिन गेंदबाजी विकल्प शामिल किए हैं जिसमें आर अश्विन, रवींद्र जडेजा, वाशिंगटन सुंदर व अक्षर पटेल शामिल हैं, लेकिन ये सभी फिंगर स्पिनर हैं। ऐसे में एक रिस्ट स्पिनर को भी टीम में मौका दिया जा सकता है और इमसें कोई बुराई नहीं है।