आईएमए ने बताया कोरोना की तीसरी लहर रोकने का उपाय, केंद्र सरकार को दी ये सलाह


कोरोना वायरस की तीसरी लहर को रोकने के लिए आईएमए ने दी मास वैक्सीनेशन की सलाह

आईएमए अध्यक्ष ने कहा कि आगे इससे बचने का एकमात्र तरीका टीकाकरण है। यदि हम बड़े पैमाने पर टीकाकरण पर जोर नहीं देंगे तो तीसरी लहर का सामना करना सुरक्षित नहीं होगा। तीसरी लहर से बचने के लिए सामूहिक टीकाकरण करना होगा।

नई दिल्ली, एएनआई। भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है। रोजाना ढ़ाई लाख मामले सामने आ रहा है। ऐसे मे इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को अब तीसरी लहर की चिंता सताने लगी है। आईएमए के अध्यक्ष डाक्टर जेए जयलाल ने सरकार को माल लेवल पर वैक्सीनेशन की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि इसके लिए केद्र को अधिक से अधिक टीकों को खरीदना होगा।

आईएमए के अध्यक्ष ने कहा कि आगे इससे बचने का एकमात्र तरीका टीकाकरण है। यदि हम बड़े पैमाने पर टीकाकरण पर जोर नहीं देंगे, तो तीसरी लहर का सामना करना सुरक्षित नहीं होगा। तीसरी लहर से बचने के लिए सामूहिक टीकाकरण करना होगा। इसके लिए केंद्र को अधिकतम टीकों की खरीद करनी होगी और यहां तक कि घर-घर टीकाकरण पर भी विचार करना होगा।

जयलाल ने कहा कि हमें इस प्रक्रिया में तेजी लानी चाहिए और कुछ महीनों के भीतर हमें 60-70 फीसद टीकाकरण के अपने लक्ष्य को पूरा करना हगा। उन्होंने कहा कि कोराना से उबरने वाले लोगों को टीका लगवाने के लिए 6 महीने तक इंतजार कराना खतरनाक साबित हो सकता है, ऐसा करने से उनके वायरस के संपर्क में आने का खतरा है।

उन्होंने का कि सरकार को वैज्ञानिक प्रमाणों के साथ इस पर विचार करना चाहिए और इस उद्देश्य के साथ सामने आना चाहिए कि जल्द से जल्द देश में सभी लोगों को टीका लग जाए। इससे हम निकट भविष्य में कोरोना मुक्त भारत बना सकेंगे।

बता दें कि देश में अबतक कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 18.58 करोड़ को पार कर गया है। वहीं, देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2.67 लाख नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2.54 करोड़ हो गई है। इस दौरान हुई 4529 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 2,83,248 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 32,26,719 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 2,19,86,363 ह गई है।