दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पैदल व बाइक सवार भी लगवा सकते हैं फ्री में टीका: केजरीवाल

 

केजरीवाल ने माडल टाउन स्थित छत्रसाल स्टेडियम में निश्शुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की।

कुछ लोग संक्रमण के डर से टीका लगवाने के लिए अस्पतालों डिस्पेंसरी और स्कूलों में जाने से हिचकिचा रहे हैं। ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन ऐसे लोगों को अन्य व्यक्तियों के संपर्क में आए बिना टीका लगवाने का विकल्प प्रदान कर रहा है।

नई दिल्ली, संवाददाता। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को माडल टाउन स्थित छत्रसाल स्टेडियम में निश्शुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां पर कार सवार के अलावा बाइक सवार या पैदल आकर भी लोग टीकाकरण करा सकते हैं। फिलहाल 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका लगाया जा रहा है। अभी 45 से कम आयु वर्ग के लोगों के लिए टीका उपलब्ध नहीं है, जब मिल जाएगा तो युवा भी ड्राइव थ्रू के जरिये कोरोना रोधी टीका लगवा सकेंगे। उन्होंने बताया, 'हम स्टेडियम में एक दिन में 400 लोगों को टीका (कोविशिल्ड) लगा सकते हैं। शनिवार को हमने केवल 200 लाभार्थियों के लिए स्लाट बुक किया। इसे आने वाले दिनों में प्रतिदिन 400 लाभार्थियों तक बढ़ाया जाएगा।'

गौरतलब है कि कुछ लोग संक्रमण के डर से टीका लगवाने के लिए अस्पतालों, डिस्पेंसरी और स्कूलों में जाने से हिचकिचा रहे हैं। ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन ऐसे लोगों को अन्य व्यक्तियों के संपर्क में आए बिना टीका लगवाने का विकल्प प्रदान कर रहा है।

इससे लोगों में विश्वास बढ़ेगा और अधिक से अधिक लोग इस सुविधा का उपयोग करेंगे। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया के साथ, उत्तरी जिले की जिला अधिकारी ईशा खोसला, माडल टाउन के एसडीएम राहुल सैनी व डा. कुसुम अरोड़ा की मौजूद रहीं।

केंद्र से ही बात करना चाहती हैं टीका निर्माता कंपनियां

टीके के वैश्विक निविदा को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली सरकार ने टीके के लिए वैश्विक निविदा जारी कर दी है। टीके के लिए हमारी तरफ से सारी कोशिशें जारी हैं। अभी तक जितनी भी दूसरी राज्य सरकारों ने निविदाएं जारी की थीं, उनके नतीजे बहुत ज्यादा उत्साहवर्धक नहीं आए हैं। मोटे तौर पर मैं समझता हूं कि दुनिया भर में जितनी भी बड़ी-बड़ी टीका निर्माता कंपनियां हैं, वह सीधे केंद्र सरकार से बात करना चाहती हैं और केंद्र सरकार से ही बात कर रही हैं। वैक्सीन पाने में अलग-अलग राज्य सरकारें कितनी सफल होंगी, यह तो समय बताएगा।'

कोरोना केस कम हुए तो करेंगे अनलाक

लाकडाउन खोलने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, 'आने वाले हफ्तों में जैसे-जैसे कोरोना केस कम होते जाएंगे, हम धीरे-धीरे अनलाक करते जाएंगे। हम चाहते हैं कि आर्थिक गतिविधियां वापस पटरी पर आएं ताकि अर्थव्यवस्था मजबूत हो सके।