केंद्र के नए आइटी नियमों पर ट्विटर ने जारी किया बयान, कहा- सरकार से जारी रखेंगे बातचीत

 

नए आइटी नियमों पर ट्विटर ने जारी किया बयान। (फोटो: दैनिक जागरण)

नए आईटी नियमों (IT Rules) को लेकर भारत सरकार और इंटरनेट मीडिया कंपनियों के बीच विवाद चल रहा है। इस बीच माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) ने अपना बयान जारी किया है और कहा है कि भारत सरकार के साथ बातचीत जारी रखेंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। केंद्र सरकार के नए आईटी नियमों (IT Rules) को लेकर जारी बातों के बीच माइक्रोब्लॉगिंग  साइट ट्विटर (Twitter) ने अपना बयान जारी किया है और कहा है कि वह  भारत सरकार के साथ बातचीत जारी रखेंगे। ट्विटक ने बयान जारी कर कहा कि ट्विटर भारत के लोगों के लिए प्रतिबद्ध है। हमारी सेवा सार्वजनिक बातचीत के लिए महत्वपूर्ण साबित हुई है और महामारी के दौरान लोगों का सपोर्ट किया है। हम अपनी सेवा जारी रखने के लिए भारत में लागू कानून का पालन करने की कोशिश करेंगे।

ट्विटर ने आगे कहा कि जैसा कि हम दुनियाभर में करते हैं। हम पारदर्शिता के सिद्धांतों, सेवा में हर आवाज को सशक्त बनाने की प्रतिबद्धता, कानून के तहत अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और गोपनीयता की रक्षा के लिए कड़ाई से नियमों का पालन करेंगे। पुलिस की धमकाने की रणनीति से चिंतित ट्विटर ने साथ ही कहा, अभी हम भारत में अपने कर्मचारियों के संबंध में हाल की घटनाओं और यूजर्स की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए संभावित खतरे को लेकर चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि हम भारत और दुनियाभर के नागरिकों के लिए नए नियमों पर काम कर रहे हैं। साथ ही शर्तों को लागू करने के लिए पुलिस की धमकाने की रणनीति से चिंतित हैं।

ट्विटर भारत सरकार साथ जारी रखेगा बातचीत

ट्विटर ने आगे कहा कि हम इन विनियमों के उन तत्वों में बदलाव की वकालत करने की योजना बना रहे हैं। हम भारत सरकार के साथ बातचीत जारी रखेंगे और मानते हैं कि सहयोगात्मक दृष्टिकोण अपनाना महत्वपूर्ण है। जनता के हितों की रक्षा करना निर्वाचित अधिकारियों, उद्योग और नागरिक समाज की सामूहिक जिम्मेदारी है।

फेसबुक व गूगल कर रही तैयारियां

डिजिटल कंपनियों गूगल और फेसबुक ने मंगलवार को कहा कि वे नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए कदम उठा रही हैं। इंटरनेट मीडिया कंपनियों के लिए नए आईटी नियम प्रभाव में आने के कुछ घंटों पहले कंपनियों ने यह बात कही। नए नियमों की घोषणा 25 फरवरी को की गई थी। इन नियमों के तहत ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम और वाट्सएप जैसे बड़े सोशल मीडिया मंचों को अतिरिक्त उपाय करने की बाध्यता होगी।