चिकित्सा सामग्री लेकर अमेरिका से पहुंचा एक और विमान, राष्‍ट्रपति बाइडन ने दिए ये निर्देश

एक हजार ऑक्सीजन सिलिंडर, रेगुलेटर और अन्य चिकित्सा सामग्री के साथ एक और विमान अमेरिका से दिल्ली पहुंच गया है।

एक हजार ऑक्सीजन सिलिंडर रेगुलेटर और अन्य चिकित्सा सामग्री के साथ एक और विमान अमेरिका से नई दिल्ली पहुंच गया है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने प्रशासन से कहा है कि वह कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत का पूरा सहयोग करे।

नई दिल्ली, एजेंसियां। एक हजार ऑक्सीजन सिलिंडर, रेगुलेटर और अन्य चिकित्सा सामग्री के साथ एक और विमान अमेरिका से नई दिल्ली पहुंच गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट किया, अमेरिका से सहयोग मिलना जारी है। एक हजार ऑक्सीजन सिलिंडर, रेगुलेटर और अन्य चिकित्सा सामग्री के साथ एक और विमान भारत पहुंच गया है। दो दिनों के अंतराल में भारत आने वाला यह तीसरा विमान है। इससे हमारी ऑक्सीजन क्षमता में वृद्धि होगी। इस मदद के लिए हम अमेरिका के आभारी हैं।

अमेरिका भेजेगा तीन और विमान

बताते चलें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन इससे पहले कह चुके हैं कि कोरोना महामारी से मुकाबले में भारत की मदद करने के लिए अमेरिका प्रतिबद्ध है। अमेरिका भारत की मदद के लिए आक्सीजन सिलिंडर, एन95 मास्क, रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्ट और अन्य चिकित्सा सामग्री भेज रहा है। अमेरिका ने भारत को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन देने की भी पेशकश की है। इसके साथ ही भारत में कोरोना के कारण खराब होती स्थिति को देखते हुए अमेरिका ने तीन और विमान से चिकित्सा सामग्री भेजने का एलान किया है।

बाइडन ने दिए ये निर्देश

इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने प्रशासन से कहा है कि वह कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत का पूरा सहयोग करे। दोनों देशों के शीर्ष अधिकारियों ने बताया, राष्ट्रपति ने आश्वासन दिया है कि अमेरिका कोरोना से लड़ने में भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगा। ड्यूल्स हवाई अड्डे से शुक्रवार को भारत के लिए राहत सामग्री भेजे जाने के समय बाइडन ने अपने दो शीर्ष अधिकारियों को वहां भेजा था।

भारत ने सराहा

व्हाइट हाउस में बाइडन की एशिया नीति देखने वाले वरिष्ठ राजनयिक कुर्त कैंपबेल ने बताया, बाइडन ने बड़ी बात कही है। उन्होंने राहत के काम में लगे रहने को कहा है। कैंपबेल एयर फोर्स वन विमान से जार्जिया जाते समय बाइडन के साथ थे। वापसी में उन्होंने भारत को राहत के लिए भेजे जाने वाले कार्यों की जानकारी दी। अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने ड्यूल्स हवाई अड्डे पर संवाददाताओं को बताया कि राष्ट्रपति कह चुके हैं कि इस आपदा में अमेरिका भारत के साथ खड़ा है। हम इसकी सराहना करते हैं।

चिकित्सा सामग्री भेजेगा मिस्र

मिस्र के स्वास्थ्य मंत्री हाला जाएद ने एलान किया है कि कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में उनका देश भारत को चिकित्सा सामग्री भेजेगा। एक बयान में उन्होंने कहा कि 300 आक्सीजन सिलिंडर, 20 वेंटिलेटर, 100 मेडिकल बेड और अन्य चिकित्सा सामग्री की भारत को आपूर्ति की जाएगी। मिस्र की सेना की मदद से भारत को इन वस्तुओं की आपूर्ति की जाएगी।