देश में कहीं भी एक कॉल पर बुक कर सकेंगे टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंट

 

ग्रामीण भारत में टीकाकरण के आवेदन के बारे में

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने राष्ट्रीय हेल्पलाइन संख्या 1075 नंबर जारी किया है जिस पर देश में कहीं भी टीकाकरण के लिए आवेदन किया जा सकेगा। इससे उन लोगों को सहायता मिलेगी जो इंटरनेट का प्रयोग नहीं करते हैं।

नई दिल्ली, एएनआइ। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने राष्ट्रीय हेल्पलाइन संख्या 1075 नंबर जारी किया है, जिस पर देश में कहीं भी टीकाकरण के लिए आवेदन किया जा सकेगा। इससे उन लोगों को सहायता मिलेगी, जो इंटरनेट का प्रयोग नहीं करते हैं। ग्रामीण भारत में टीकाकरण के आवेदन के बारे में राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण प्रौद्योगिकी के प्रमुख आरएस शर्मा ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि प्रणाली समावेशी है, हमने 1075 कॉल सेंटर खोले हैं, जहां कोई भी कॉल और अपॉइंटमेंट बुक कर सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए स्लॉट बुक करने के लिए हमारे साथ भागीदारी करने वाले सभी सामान्य सेवा केंद्र काम करेंगे।  उन्होंने कहा कि तथ्य यह है कि 45+ आयु वर्ग की आधी से अधिक आबादी वॉक-इन पंजीकरण कर रही है और टीकाकरण करवा रही है, यह प्रणाली की समावेशिता का पर्याप्त प्रमाण है। समस्या 18-45 आयु वर्ग में हो रही है क्योंकि टीके की आपूर्ति कम है। यह अस्थायी समस्या है। 

कोविन एप के बारे में आरएस शर्मा ने कहा कि व्यवस्था पारदर्शी है। चाहे वीवीआईपी हो या सामान्य नागरिक, हर कोई टीकाकरण के लिए रिक्तियों के एक ही डेटा को देख रहा है। यह लोगों को विश्वास दिलाता है कि सिस्टम किसी को कोई प्राथमिकता नहीं दे रहा है। 

उन्होंने कहा कि जिला अधिकारी, जिला कलेक्टर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के कर्मचारी जागरूकता पैदा कर रहे हैं और ग्रामीण आबादी को टीकाकरण में सहायता कर रहे हैं। यह सामान्य अवलोकन करना कि ग्रामीण लोगों को टीकाकरण में छोड़ दिया जा रहा है, यह सही नहीं है। 

उन्होंने कहा कि थर्ड पार्टी एकीकरण के लिए नीति की घोषणा की गई है और यह कोविन (CoWIN) पर उपलब्ध है। हमने एपीआई को तीसरे पक्ष के अनुप्रयोगों के लिए बहुत पहले प्रकाशित किया था, राज्य सरकारें उनका उपयोग टीकाकरण के लिए ऐप बनाने के लिए करती हैं।    

ज्ञात हो कि कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार ने लोगों की मदद के लिए चार हेल्पलाइन नंबर जारी करते हुए निजी टीवी चैनलों से अपील की है कि वे राष्ट्रीय स्तर के इन चार हेल्पलाइन नंबरों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा दें। इन चार हेल्‍पलाइन नंबरों में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की राष्ट्रीय हेल्पलाइन संख्या 1075, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय का चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 और सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन 14567 शामिल है। यही नहीं मनोवैज्ञानिक सहायता के लिए राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य और तंत्रिका विज्ञान संस्थान (निमहंस) का हेल्पलाइन नंबर 08046110007 भी है।