उत्तर कोरिया भड़का, कहा- परिणाम भुगतने को तैयार रहे अमेरिका; बाइडन ने परमाणु कार्यक्रम को बताया था वैश्विक खतरा

अमेरिका पर भड़का उत्तर कोरिया, कही ये बात। (फोटो: दैनिक जागरण)

बाइडन ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को बताया था वैश्विक खतरा। किम जोंग ने अभी तक नहीं दी हैबाइडन को राष्ट्रपति की मान्यता। राष्ट्रपति बाइडन के बयान से सिद्ध हो गया है कि अमेरिका उत्तर कोरिया से पांच दशकों से चली आ रही दुश्मनी को जारी रखना चाहता है।

सियोल, एजेंसियां। राष्ट्रपति जो बाइडन के बयान के बाद उत्तर कोरिया अमेरिका पर हमलावर हो गया है। उसने सीधे अमेरिका को चेतावनी दे दी है, वह परिणाम भुगतने के लिए तैयार हो जाए। यह भी कहा कि जो बाइडन ने बहुत बड़ी गलती की है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने संसद में बयान दिया था कि कोरिया और ईरान के परमाणु कार्यक्रम वैश्विक स्तर पर गंभीर खतरा है। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय प्रवक्ता क्वोन जोंग गुन ने कहा है कि राष्ट्रपति बाइडन के बयान से सिद्ध हो गया है कि अमेरिका उत्तर कोरिया से पांच दशकों से चली आ रही दुश्मनी को जारी रखना चाहता है। इससे अमेरिका के नए प्रशासन की नीति स्पष्ट हो गई है। उत्तर कोरिया अमेरिका पर बुरी तरह गुस्सा हो गया है।

अगर यही नीति है तो इसके मुताबिक ही उत्तर कोरिया आगे बढ़ेगा और अमेरिका को दुश्मनी निभाने का भुगतान भी करना पड़ेगा। क्वोन ने यह स्पष्ट नहीं किया कि उत्तर कोरिया इसके बाद क्या कदम उठाएगा। ज्ञात को कि दो दिन पहले ही व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने उत्तर कोरिया के बारे में अमेरिकी नीति को स्पष्ट किया था कि वह न तो ट्रंप की दोस्ताना नीति पर चलेगा, न ही ओबामा की धैर्य वाली नीति पर। अब उत्तर कोरिया के साथ कूटनीतिक स्तर पर नापतौल कर व्यवहार किया जाएगा। साकी के इस बयान पर क्वोन ने कोई टिप्पणी नहीं की है। ज्ञात हो कि उत्तर कोरिया ने अब तक जो बाइडन को अमेरिका का नया राष्ट्रपति नहीं माना है।

दक्षिण कोरिया को चेतावनी

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की सत्ता में पूरा प्रभाव रखने वाली बहन किम यो जोंग ने दक्षिण कोरिया को उकसावे वाली कार्रवाई के लिए चेतावनी दी है। दक्षिण कोरिया में उत्तर कोरिया के खिलाफ पर्चे बांटने की घटना हुई थी। इसी पर उत्तर कोरिया से प्रतिक्रिया आई है।