बंगाल में नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में सबसे आगे नंदीग्राम के सूरमा सुवेंदु, मुकुल रॉय दूसरे स्थान पर

बंगाल में नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में सबसे आगे नंदीग्राम के सूरमा सुवेंदु

बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष पद की दौड़ में नंदीग्राम के सूरमा सुवेंदु अधिकारी सबसे आगे हैं। इसके लिए उन पर दबाव भी बन रहा है। बंगाल की सियासी जंग की केंद्र रही हाई प्रोफाइल नंदीग्राम सीट जीतने का श्रेय उनके पास है।

राज्य ब्यूरो,  कोलकाता : बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष पद की दौड़ में नंदीग्राम के सूरमा सुवेंदु अधिकारी सबसे आगे हैं। इसके लिए उन पर दबाव भी बन रहा है। बंगाल की सियासी जंग की केंद्र रही हाई प्रोफाइल नंदीग्राम सीट जीतने का श्रेय उनके पास है। भाजपा सूत्रों के अनुसार सुवेंदु विपक्ष के नेता के पद के हकदार हैं क्योंकि उन्होंने तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी को शिकस्त देकर इतिहास कायम किया है। दौड़ में शामिल अन्य नेताओं में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय दूसरे स्थान पर हैं। 

दरअसल भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हराकर 'बड़ा उलटफेर करने वाले' के रूप में उभरे हैं।अधिकारी ने मतगणना के अंतिम दौर तक चली खींचतान के बाद ममता को 1,900 से अधिक मतों के अंतर से हार का स्वाद चखा दिया।

तृणमूल कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए अधिकारी की जीत को भगवा पार्टी के लिये केवल मनोबल बढ़ाने वाली जीत के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि ममता के नेतृत्व में टीएमसी ने 292 सीटों पर हुए चुनाव में से 213 पर विजय प्राप्त की है।

फिलहाल अधिकारी भाजपा के हलकों में चर्चा का विषय बने हुए हैं।भाजपा सूत्रों के अनुसार सुवेंदु विपक्ष के नेता के पद के हकदार हैं।बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे रहने वाले सुवेंदु अधिकारी पर इसके लिए दबाव बन रहा है। दौड़ में शामिल अन्य नेताओं में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय दूसरे स्थान पर हैं। हालांकि इस बारे में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि पार्टी इस बारे में केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा करने के बाद ही कोई निर्णय लेगी।