राजस्थान उपचुनाव में कांग्रेस ने दो और भाजपा ने एक सीट जीती

राजस्थान उपचुनाव में सहाड़ा और सुजानगढ़ में कांग्रेस व राजसमंद सीट पर भाजपा आगे। फाइल फोटो

सुजानगढ़ व सहाड़ा में कांग्रेस और राजसमंद में भाजपा की जीत हुई है। तीनों ही विजेता उम्मीदवार मृतकों के रिश्तेदार हैं। तीनों ने ही पहली बार चुनाव लड़ा और निर्वाचित हुए। सहानुभूति की लहर में इनकी जीत हुई।

जयपुर,  संवाददाता।  राजस्थान में तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे रविवार को आ गए। इनमें दो सीटों पर कांग्रेस और एक पर भाजपा प्रत्याशी की जीत हुई है। सुजानगढ़ व सहाड़ा में कांग्रेस और राजसमंद में भाजपा की जीत हुई है। तीनों ही विजेता उम्मीदवार मृतकों के रिश्तेदार हैं। तीनों ने ही पहली बार चुनाव लड़ा और निर्वाचित हुए। सहानुभूति की लहर में इनकी जीत हुई। सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की गायत्री देवी, सुजानगढ़ से कांग्रेस के ही मनोज मेघवाल और राजसमंद सीट से भाजपा की दीप्ति माहेश्वरी चुनाव जीती हैं। सहाड़ा में गायत्री देवी ने भाजपा प्रत्याशी रतनलाल जाट को 42,099 वोटों से हराया।

यहां गायत्री देवी को 81,252, रतनलाल जाट को 39052 और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के बद्रीलाल जाट को 12,175 वोट मिले। कांग्रेस विधायक कैलाश त्रिवेदी के निधन के कारण सहाड़ा में उप चुनाव कराए गए थे और सत्तारूढ़ दल ने उनकी पत्नी को मैदान में उतारा था। सुजानगढ़ सीट पर अशोक गहलोत सरकार के कैबिनेट मंत्री भंवरलाल मेघवाल के निधन के कारण चुनाव हुए। कांग्रेस ने यहां से उनके बेटे मनोज मेघवाल को टिकट दिया और वे जीत गए। मनोज को 78,842, भाजपा के खेमाराम मेघवाल को 43,424 और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सोहन लाल नायक को 31,933 वोट मिले। राजसमंद सीट पर भाजपा विधायक किरण माहेश्वरी के निधन के कारण उप चुनाव हुआ। भाजपा ने यहां उनकी बेटी दीप्ति माहेश्वरी को टिकट दिया और वे जीत गईं। कांग्रेस ने खनन कारोबारी तनसुख बोहरा को मैदान में उतारा था। इस सीट पर दीप्ति माहेश्वरी को 74,704 वोट मिले, वहीं बोहरा को 69,394 मत मिले। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सहाड़ा व सुजानगढ़ में कांग्रेस की जीत पर खुशी जताई और निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं दीं।उन्होंने कहा कि राजसमंद उप चुनाव सभी ने एकजुट होकर लड़ा और यहां भाजपा की जीत का अंतर बेहद सामान्य रहा है।