एक्ट्रेस जूही चावला ने दिल्ली HC में 5G तकनीक के खिलाफ दी याच‍िका, बताए ये 2 बड़े नुकसान

 


5G News: एक्ट्रेस जूही चावला ने दिल्ली HC में 5G टेक्नॉलजी के खिलाफ दी याच‍िका, बताए ये 2 बड़े नुकसान

बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला (Juhi Chawla) भारत में 5G टेक्नॉलजी (5G technology) के लागू किए जाने के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया है। एक्ट्रेस ने 5G टेक्नॉलजी को लागू करने के खिलाफ मुंबई हाई कोर्ट में भी याचिका दायर की है।

नई दिल्ली । 90 के दशक में अपने उम्दा अभिनय से देश-दुनिया के करोड़ों लोगों को दिल जीतने वालीं बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला ने देश में 5G टेक्नॉलजी के लागू किए जाने के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया है। दरअसल, जूही चावला पिछले कई सालों से देश में 5G तकनीक (5G technology) को लागू किए जाने के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं। इतना ही वहीं, वह मोबाइल टावरों से निकलने वाले हानिकारक रेडिएशन के प्रति लोगों को जागरूक भी करती रही हैं। अब इसी को लेकर जूही चावला ने इस संबंध में दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। 

जूही चावला की मानें तो उन्होंने जनहित और पर्यावरण के हितों को देखते हुए याचिका दायर की है। इस बाबत  जूही चावला के प्रतिनिधि प्रवक्ता का कहना है कि देश में 5G तकनीक को लागू किये जाने से पहले RF रेडिएशन से मानव जाति, महिला, पुरुषों, बच्चों, शिशुओं, जानवरों, जीव-जंतुओं, वनस्पतियों और पर्यावरण पर पड़नेवाले प्रभावों को लेकर बारीकी से पढ़ा जाए और ध्यान जाए। यह स्पष्ट किया जाए कि 5G टेक्नॉनजी भारत की मौजूदा और आनेवाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित या नहीं।

जूही चावला की ओर से यह भी बयान दिया गया है कि वह अब तकनीकी अडवांसमेंट को लागू किए जाने के खिलाफ कतई नहीं हैं, लेकिन वायरलेस गैजेट्स और मोबाइल टावरों से निकलने वाले RF रेडिएशन के बारे में रिसर्च और अध्ययन करने के बाद हमारे पास यह मानने के लिए पर्याप्त कारण हैं कि रेडिएशन लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए बेहद खतरनाक है।

गौरतलब है कि जूही चावला इससे पहले वर्ष 2018 में महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उन्होंने मोबाइल टावर और वाईफाई हॉटस्पॉट से निकलने वाले रेडिएशन से लोगों के स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण को होने वाले नुकसान के बारे में आगाह किया था।

जानें- क्या है 5 जी तकनीक

5जी या फिफ्थ जेनरेशन, ब्रॉडबैंड सेल्युलर नेटवर्क की वह तकनीक है। 5जी सेलुलर तकनीक के माध्यम से देश में तेज और अधिक विश्वसनीय संचार होगा। 5जी के साथ डाटा नेटवर्क स्पीड 2-20 जीबी प्रति सेकेंड तक होने की उम्मीद है। 5 G मौजूदा 4जी से करीब 20 गुना अधिक तेज होगा। यह तेज स्पीड गति उच्च गुणवत्ता की वीडियो गुणवत्ता को स्ट्रीमिंग करने में ध्यान देने योग्य होगी।