रद्द हुईं पश्चिम बंगाल 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

 


सीएम ने कहा कि रिजल्ट तैयार किये जाने के लिए मूल्यांकन मानदंड जल्द ही जारी किये जाएंगे।

 पश्चिम बंगाल सरकार ने माध्यमिक और हायर सेकेंड्री कक्षाओं की इस वर्ष की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द किये जाने की घोषणा मुख्यमंत्री ने आज 7 जून 2021 को की।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। पश्चिम बंगाल सरकार ने माध्यमिक और हायर सेकेंड्री कक्षाओं की इस वर्ष की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। पश्चिम बंगाल बोर्ड की कक्षा 10 और कक्षा 12 की शैक्षणिक सत्र 2020-21 की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द किये जाने की घोषणा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज, 7 जून 2021 को अब से कुछ ही देर पहले की। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि माध्यमिक और हायर सेकेंड्री कक्षाओं के रिजल्ट तैयार किये जाने के लिए मूल्यांकन मानदंड यानि ईवैल्यूएशन क्राइटेरिया जल्द ही जारी किये जाएंगे।

आज दोपहर 2 बजे तक आम जनता से मांगी थी राय

इससे पहले पश्चिम बंगाल सरकार ने माध्यमिक और सीनियर सेकेंड्री की परीक्षाओं के महामारी के बीच आयोजन की संभावनाएं तलाशने, संभव होने पर मोड (ऑनलाइन/ऑफलाइन) निर्धारित करने और रद्द किये जाने की स्थिति में मूल्यांकन का आधार निर्धारित करन के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन हाल ही में किया था। इसके साथ ही राज्य सरकार ने स्टूडेंट्स, पैरेंट्स, विशेषज्ञों और आम जनता से भी 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं के आयोजन को लेकर राय मांगी थी। सभी स्टेकहोल्डर्स को आज दोपहर 2 बजे तक अपनी राय ईमेल के माध्यम से देनी थी।माना जा रहा है कि पब्लिक ओपिनियन की समीक्षा और परीक्षाओं के लिए बनायी गयी विशेषज्ञ समिति की सुझाव के आधार पर ही पश्चिम बंगाल सरकार ने माध्यमिक और हायर सेकेंड्री परीक्षाओं को रद्द किये जाने की घोषणा की है।

20 लाख से अधिक छात्र प्रभावित

पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा माध्यमिक और हायर सेकेंड्री कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द किये जाने के निर्णय से राज्य बोर्ड से सम्बद्ध शासकीय एवं निजी विद्यालयों के 20 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं प्रभावित होंगे। इनमें से 12 लाख से अधिक स्टूडेंट्स माध्यमिक के हैं जबकि 8.5 लाख हायर सेकेंड्री कक्षाओं के हैं।