हरियाणा बाेर्ड के 10वीं का रिजल्‍ट घोषित, सभी परीक्षार्थी पास

 

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड आज 10वीं की परीक्षा का रिजल्‍ट घोषित करेगा। (फाइल फोटो)

 हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड 10वीं कक्षा का रिजल्‍ट आज जारी दिया गया। परीक्षा में सभी विद्यर्थियों को पास घोषित किया गया है। इसे बोर्ड की बेवसाइट पर देखा जा सकता है। अंक सुधार के लिए इच्‍छुक विद्यार्थी बाद में परीक्षा दे सकते हैं।

भिवानी, जेएनएन। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं कक्षा का परिणाम घोषित कर दिया गया है। बोर्ड के अध्‍यक्ष जगबीर सिंह ने इसे दोपहर बाद 2.30 बजे जारी किया दिया है। अब विद्यार्थी अपना रिजल्‍ट शिक्षा बोर्ड की वेबसाइट www.bseh.org.in पर देख सकते हैं। इस बार सभी विद्यार्थी पास घोषित किए गए हैं। बोर्ड परीक्षा के इतिहास में यह ऐसा पहली बार हुआ है कि प्रदेश शतप्रतिशत परीक्षार्थी पास हो गए हैं।  इस बार के परीक्षा परिणाम में टॉप टेन विद्यार्थियों की सूची जारी नहीं की गई है।

कल नियमित 3 लाख 13 हजार 345 विद्यार्थियों ने परीक्षा के लिए फार्म भरा था। इनमें 1 लाख 72 हजार 59 लड़के और 1 लाख 41 हजार 286 लड़कियां हैं। कंपार्टमेंट में 11278 विद्यर्थियों ने फार्म भरा था। इनमें 5884 छात्र और 5394 छात्राएं थीं। ये सभी विद्यार्थी पास घोषित किए गए हैं।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ही नहीं, बल्कि शिक्षा प्रणाली लागू होने के बाद पहली बार हरियाणा में बगैर परीक्षा के ही लाखों परीक्षार्थी पास हुए हैं। कोरोना काल की वजह से इस बार हरियाणा व सीबीएसई द्वारा दसवीं एवं बारहवीं कक्षा की परीक्षा नहीं करवाई गई है।

500 से ज्यादा बच्चों के रिजल्ट पर अभी ब्रेक

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दसवीं के परीक्षा परिणाम में 500 से ज्यादा बच्चों का रिजल्ट रोका गया है। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि इनमें से बहुत से बच्चों के प्रैक्टिकल के अंक नहीं आए हैं। इसके अलावा कई के इंटरनल अंक नहीं भेजे गए हैं या फिर कुछ और दूसरी तरह की त्रुटियां हैं। ये सभी त्रुटियां दूर करने के बाद इनका रिजल्ट बाद में जारी किया जाएगा। ऐसे बच्चों को त्रुटियां दूर कराने का अवसर दिया जाएगा। बोर्ड ने इसकी तैयारी कर ली है। जल्द ही इस पर अगला निर्णय ले लिया जाएगा।

रिजल्‍ट स्‍कूलों के आंतरिक मूल्‍यांकन पर

शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने विद्यालयों द्वारा किए गए आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर की है। इस वजह से प्रदेश में इस बार कोई भी बच्चा फेल नहीं हो रहा है। आंतरिक मूल्यांकन की वजह से परीक्षा परिणाम सौ फीसद आ रहा है।  इस बार परीक्षा के लिए बोर्ड के पास तीन लाख 18 हजार 373 विद्यार्थियों ने फार्म भरा था। कोरोना महामारी के चलते इस बार परीक्षाएं नहीं हो पाई है। परिणाम शुक्रवार दोपहर बाद घोषित हो सकता है। बोर्ड अधिकारियों ने बताया कि जुलाई 1969 में शिक्षा बोर्ड की शुरूआत हुई थी। उसके बाद ही 1970 में पहली बार दसवीं की परीक्षा ली गई थी। उसके बाद से टॉपर घोषित किए जाते रहे हैं, लेकिन इस बार परीक्षा रद हाेने के बाद वैसा नहीं होगा।

प्रदेश में जिला वाइज छात्रों की संख्या

जिला      विद्यार्थी

अंबाला-     10742

भिवानी-      18991

फरीदाबाद-   20261

फतेहाबाद-   11809

गुरुग्राम-     14006

हिसार-        23795

झज्जर-       11390

जींद-           19053

करनाल-    16348

कैथल-       14911

कुरुक्षेत्र-     10623

महेंद्रगढ़-    10099

पंचकूला-     4575

पानीपत-     15679

रेवाड़ी-         10559

रोहतक-       13138

सिरसा-        14086

सोनीपत-      20013

यमुनानगर-  13137

नूंह-             14448

पलवल-        18518

चरखी दादरी- 8126