आगरा में 11 लाख से अधिक कोरोना की जांच, रिकवरी रेट 98 फीसद के करीब


आगरा में 25142 मरीज दे चुके हैं कोरोना को मात।

 मार्च 2020 से 24 जून 2021 तक 1118926 की कोरोना की जांच। 25142 मरीज दे चुके हैं कोरोना को मात 451 मरीजों की हुई मौत। कोरोना संक्रमित 25142 मरीज ठीक हो चुके हैं। इस तरह रिकवरी रेट 97. 95 फीसद पहुंच गया है।

आगरा, संवाददाता। कोरोना के संक्रमण को 15 महीने हो चुके हैं। मार्च 2020 में कोरोना का पहला केस आया था, इन 15 महीने में 11 लाख से ज्यादा लोगों की कोरोना की जांच की जा चुकी है। वहीं, 25142 लोगों ने कोरोना को मात दी है। कोरोना संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 97. 95 फीसद पहुंच गया है।

खंदारी निवासी कारोबरी भाई मार्च 2020 में इटली से लौट कर आए थे, इन दोनों सहित पांच लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद अप्रैल में जमात से जुडे लोग और श्री पारस हास्पिटल में इलाज कराने वाले मरीजों के संक्रमित होने से नए केस तेजी से बढे। जून, जुलाई के बाद अगस्त में भी मरीजों की संख्या तेजी से बढने लगी। इसके साथ ही कोरोना की जांच के लिए सैंपल की संख्या भी बढा दी गई। सब्जी मंडी से लेकर दुकानदारों की कोरोना की जांच की गई। इसमें कोरोना की पुष्टि। सितंबर में कोरोना का पीक आया और केस तेजी से बढे। ऐसे में एसएन मेडिकल कालेज के साथ ही जालमा कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टीरियल रोग संस्थान में भी कोरोना की आरटीपीसीआर की जांच शुरू कर दी गई। इसके बाद ट्रून नेट और एंटीजन टेस्ट भी शुरू हो गए। अप्रैल 2021 में कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद जांच की संख्या बढा दी गई। अब केस कम हो गए हैं लेकिन एंटीजन टेस्ट की संख्या बढा दी गई है। सीएमओ डा आरसी पांडेय ने बताया कि अभी तक 1118926 लोगों की कोरोना की जांच की जा चुकी है। इसमें से कोरोना के 25669 मरीज मिले हैं। कोरोना संक्रमित 25142 मरीज ठीक हो चुके हैं। इस तरह रिकवरी रेट 97. 95 फीसद पहुंच गया है।