डोमिनिका: भगोड़े मेहुल चोकसी के मामले में सुनवाई, 13500 करोड़ रुपये का फ्रॉड कर भारत से है फरार

 


भगोड़े मेहुल चोकसी के मामले में सुनवाई, 13500 करोड़ रुपये का फ्रॉड कर भारत से है फरार

13 हजार 500 करोड़ का फ्रॉड कर भारत से फरार मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण व जमानत मामले पर डोमिनिका कोर्ट में सुनवाई की जाएगी। इसमें देश की ओर से वकील हरीष साल्वे प्रतिनिधित्व करेंगे।

 नई दिल्ली, प्रेट्र। भगोड़े मेहुल चोकसी  केे मामले में डोमिनिका कोर्ट  में आज सुनवाई की जाएगी। पंजाब नेशनल बैंक   में 135 अरब रुपये की धोखाधड़ी करके फरार कारोबारी मेहुल चोकसी की जमानत और प्रत्यर्पण मामले में सुनवाई चल रही है। भांजे नीरव मोदी के साथ मिलकर धोखाधड़ी को अंजाम देने के बाद उसने एंटीगुआ में नागरिकता ले शरण ली थी। उल्लेखनीय है कि डोमिनिका के प्रधानमंत्री रुजवेल्ट स्केर्रिट ने भगोड़े मेहुल चोकसी को भारतीय नागरिक बताया और कहा कि कोर्ट इस बात का फैसला लेगी की चोकसी का आगे क्या किया जाएगा।

पिछले महीने उसे नाटकीय ढंग से डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया। उल्लेखनीय है कि मामले में डोमिनिका कोर्ट में देश का प्रतिनिधित्व हरीश साल्वे करेंगे। साल्वे ने ही अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव का केस लड़ा था, जिसे मौत की सजा सुनाई गई है।

वर्ष 2018 से एंटीगुआ और बरबूडा में नागरिक के तौर पर रहा रहा चोकसी 23 मई को रहस्यमयी तौर पर गायब हो गया। पड़ोस के आइलैंड डोमिनिका में अवैध घुसपैठ मामले में उसे गिरफ्तार किया गया। उसके वकीलों का कहना है कि एंटीगुआ के जॉली हार्बर से चोकसी को किडनैप किया गया था। मेहुल चौकसी को डोमिनिका से भारत वापस लाने पर सरकार वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे से सलाह ले रही है। इन दिनों लंदन में प्रैक्टिस कर रहे साल्वे भारत के लिए विदेश में कई मुकदमों में पेश हो चुके हैं।

इस क्रम में डोमिनिका के प्रधानमंत्री रुजवेल्ट स्केर्रिट ने कहा कि भारतीय नागरिक मेहुल चोकसी के अधिकारों का सम्मान होगा और कोर्ट भविष्य का का फैसला लेगा। जहां तक एंटीगुआ या भारत का मामला है उसमें हमें कोई परेशानी नहीं। हम अपने कम्युनिटी का हिस्सा हैं और हमें अपने कर्तव्यों व जिम्मेवारियों को निभाना होगा। चोकसी को रोजियू मजिस्ट्रेट (Roseau magistrate) के समक्ष पेश किया गया।