कभी 20-30 सिगरेट पी जाते थे मिलिंद सोमन, सोशल मीडिया पोस्ट पर शेयर कर किया खुलासा

 


Milind Soman ever smoked 20 30 cigarettes. photo source @milindrunning instagram.

अभिनेता मिलिंद सोमन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। एक्टर अक्सर सोशल मीडिया पर वर्कआउट करते वक्त की तस्वीरें शेयर करते रहते हैं। अब उन्होंने सोशल मीडिया पर एक बूमरैंग वीडियो शेयर की है जिसमें वो सिगरेट तोड़ते हुए नजर आ रहे हैं।

नई दिल्ली। अभिनेता मिलिंद सोमन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। एक्टर अक्सर सोशल मीडिया पर वर्कआउट करते वक्त की तस्वीरें शेयर करते रहते हैं। अब उन्होंने सोशल मीडिया पर एक बूमरैंग वीडियो शेयर की है, जिसमें वो सिगरेट तोड़ते हुए नजर आ रहे हैं।

बूमरैंग वीडियो को उन्होंने अपने वर्ल्ड नो तंबाकू डे के मौके पर आधिकारिक इंस्टाग्राम पर शेयर कर उन्होंने एक लंबी पोस्ट भी लिखी है, जिसमें वो अपनी धूम्रपान की लत के बारे में बात करते नजर आ रहे हैं। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर कैप्शन लिखा, ‘तंबाकू महामारी दुनिया के अब तक के सबसे बड़े सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरों में से एक है, जिससे दुनिया भर में हर साल 8 मिलियन से अधिक लोग मार जाते हैं।’

‘हर 31 मई को वर्ल्ड नो तंबाकू डे, मेरे लिए एक उत्सव है और मेरे द्वारा किए गए सबसे बेवकूफी भरे काम की भी याद दिलाता है- धूम्रपान!’ मैंने 32 साल की उम्र में साइ-फाई टीवी सीरीज कैप्टन व्योम के सेट पर शूटिंग के दौरान धूम्रपान करना शुरू किया था।’

उन्होंने पोस्ट में आगे लिखा, ‘स्मोकिंग शुरू करने का कोई कारण नहीं था, बस धूम्रपान करने वाले लोगों के साथ घूमना, इसे आजमाना और आदी होना। मैं बहुत जल्दी आदी हो गया और जल्द ही एक दिन में 20-30 सिगरेट पीने लगा था। मुझे अपने इस आदत को रोकना काफी कठिन था औऱ मुझे एक लंबा वक्त लगा। लेकिन मैं भाग्यशाली था कि मैं कर सका। मुझे लगता है कि भाग्यशाली हूं, जो मुझे इससे बाहर आने का मौका मिला क्योंकि मेरे अंदर कई अच्छी आदतें थीं।’

हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर किया था, जिसके द्वारा वो अपने फैंस को खाने के महत्व को समझा रहे हैं। इस फोटो में वो तरबूज खाते दिख रहे हैं और उनकी पत्नी अंकिता कोंवर पीछे से आम दिखाती नजर आ रही हैं।

इस फोटो को शेयर कर उन्होंने कैप्शन लिखा, ‘देवताओं का भोजन जैसा कि हिप्पोक्रेट्स ने 2000 से अधिक साल पहले कहा था और आयुर्वेंद ने उनसे एक हजार साल पहले कहा था, कि खाना दवा और दवा खाना है।’ उन्होंने आगे लिखा, ‘बुद्धिमानी से चुनें कि आप क्या, कब और कितना खाते हैं... बेहतर दिमाग, शरीर और आत्मा के लिए खांए, सिर्फ अपनी जीभ के लिए नहीं।’