मध्यप्रदेश: पैंगोलिन के चमड़े की तस्करी मामले में दो गिरफ्तार, 2019 से थे फरार


मध्यप्रदेश: पैंगोलिन के चमड़े के अवैध तस्करी मामले में दो गिरफ्तार

2019 से फरार पैंगोलिन चमड़े का गैरकानूनी तरीके से खरीद बिक्री करने वाले दो आरोपियों को मध्यप्रदेश वन विभाग के टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान मांडला (Mandla district) निवासी दानिश रजा और अनुपपुर जिला निवासी इरफान (Irfan) के तौर पर हुई ।

भोपाल, प्रेट्र। मध्यप्रदेश  में विलुप्तप्राय  जानवर पैंगोलिन के मारने और इसके चमड़े की तस्करी का मामला सामने आया है। राज्य में टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। यह जानकारी एक अधिकारी ने बुधवार को दी। आरोपी की पहचान मांडला निवासी दानिश रजा और अनुपपुर जिला  निवासी इरफान के तौर पर हुई । ये दोनों ही 2019 से फरार हैं। मंगलवार को इन्हें गिरफ्तार किया गया।

वन्यजीव संरक्षण के प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर आलोक कुमार द्वारा जारी किए गए प्रेस रिलीज में यह जानकारी दी गई। राज्य वनविभाग के टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने 29 अगस्त 2019 को जबलपुर रेलवे स्टेशन पर एक एसयूवी से 8.5 किलो पैंगोलिन चमड़े को जब्त किया था जो गैरकानूनी तौर पर व्यापार के लिए ले जाया जा रहा था। तब से ये आरोपी फरार थे। वन विभाग इनकी तलाश में था।

चीन में पैंगोलिन से पारंपरिक दवाएं बनाई जाती हैं साथ ही इसका मांस काफी ऊंचे दामों पर मिलता है, जो ताकत देने वाला माना जाता है। चीन में इस जीव का मांस भी लोग शौक से खाते हैं। यह काफी कीमती होता है। बता दें कि इसके एक किलो की कीमत लगभग 27000 रुपये तक होती है, इसलिए चीन में ये एग्जॉटिक जानवरों की श्रेणी में मिलता है। वहीं इसके स्किन से जो दवाएं बनती हैं वो देखने में चॉकलेट बार की तरह दिखती है। पैंगोलिन के मांस को ताकत देने वाला माना जाता है और बहुत से लोग इसे जूस में डालकर पीना पसंद करते हैं। चीन में इससे बनने वाली ट्रेडिनशल मेडिसिन की प्रक्रिया के तहत इसे धूप में सुखाकर कैप्सूल में बदलते हैं और फिर इसे भारी कीमत पर बेचा जाता है।

इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) ने कहा है कि दुनियाभर के वन्‍य जीवों की अवैध तस्‍करी में 20 फीसद पैंगोलिन की तस्करी शामिल है। स्तनधारी वर्ग में आने वाला पैंगोलिन दिखने में जीव सांप और छिपकली की तरह है। दुनियाभर के देशों में दशकों से इसकी तस्करी हो रही है।