शोरूम के सेल्समैन ने ही की थी चोरी 206 मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार


गिरफ्तार सेल्समैन की पहचान संगम विहार निवासी आदर्श साहू के रूप में की गई है।

पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि आठ जून को जैन मंदिर राजा बाजार शिवाजी स्टेडियम निवासी अभिनव जैन ने मालवीय नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि वह मालवीय नगर स्थित ई-1/8 मेन मार्केट मालवीय नगर एमआइ होम मोबाइल शाप में प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं।

नई दिल्ली,  संवाददाता। मालवीय नगर इलाके में मोबाइल शोरूम की दुकान से 229 मोबाइल, दो लैपटाप और सवा दो लाख से अधिक रुपये चोरी कर फरार सेल्समैन को मालवीय नगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से पुलिस ने चोरी के 206 मोबाइल फोन, दो लैपटाप और एक लाख रुपये से अधिक की नकदी बरामद किए हैं। गिरफ्तार सेल्समैन की पहचान संगम विहार निवासी आदर्श साहू के रूप में की गई है।

दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि आठ जून को जैन मंदिर राजा बाजार शिवाजी स्टेडियम निवासी अभिनव जैन ने मालवीय नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि वह मालवीय नगर स्थित ई-1/8, मेन मार्केट मालवीय नगर एमआइ होम मोबाइल शाप में प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं। आठ जून की सुबह लाकडाउन खुलने के बाद उन्होंने दुकान खोला तो देखा कि कैश लाकर खुला हुआ है और चोरी हुई है। पुलिस जांच में पता चला कि दुकान का शटर टूटा हुआ नहीं था। इसलिए शक दुकान के कर्मचारियों पर गया। दुकान की चाभी का सेट सेल्समैन आदर्श साहू के पास रहता था। उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपना अपराध कबूल लिया।

उसने बताया कि वह दो वर्ष से एमआइ स्टोर में सेल्समैन है। लाकडाउन के कारण दुकान बंद थी और दुकान की चाभियों का एक सेट उसे दिया गया है। चोरी के बाद उसने दुकान के सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर निकाल लिया और उसे संगम विहार के जंगल में फेंक दिया था।

आटो से रेकी कर करते थे सेंधमारी, दो गिरफ्तार

वहीं, किशनगढ़ पुलिस ने एक दुकान में लाखों रुपये की सेंधमारी करने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से चोरी के कपड़े, जींस, शर्ट, टी-शर्ट, लैपटॉप, मोबाइल फोन, घड़ियां, कंप्यूटर व हार्ड डिस्क बरामद हुई है। वारदात में इस्तेमाल आटो भी पुलिस ने जब्त किया है। गिरफ्तार बदमाश पहले आटो से रेकी करते थे। इन बदमाशों की पहचान किशनगढ़ निवासी जहरुल हक उर्फ गुलफाम और सोनू के रूप में हुई है। डीसीपी इंगित प्रताप सिंह ने बताया कि 20 मई को किशनगढ़ गांव में चोरी के संबंध में काल आई। बाद में आरोपितों को दबोच लिया गया।