बरेली में कोरोना से जान गंवाने वाले 35 कर्मचारियों को मिलेगी अनुग्रह राशि, छह सदस्यीय टीम करेगी चयन, जानिए कितने आए आवेदन

 


Compensation Amount News : बरेली में कोरोना से जान गंवाने वाले 35 कर्मचारियों को मिलेगी अनुग्रह राशि

पंचायत चुनाव के बाद कोरोना संक्रमण के चलते बीते दिनों करीब एक सैकड़ा से अधिक सरकारी कर्मचारियों की मौत हुई। इन कर्मचारियों की मौत के बाद सरकार की ओर से स्वजन को अनुग्रह धनराशि दी जानी है।

बरेली,  पंचायत चुनाव के बाद कोरोना संक्रमण के चलते बीते दिनों करीब एक सैकड़ा से अधिक सरकारी कर्मचारियों की मौत हुई। इन कर्मचारियों की मौत के बाद सरकार की ओर से स्वजन को अनुग्रह धनराशि दी जानी है। इसके लिए शासन ने 15 जून तक इलेक्शन पोर्टल पर डेटा अपलोड करने के निर्देश दिए थे। पोर्टल पर डेटा अपलोड होने के बाद अब सीडीओ की अध्यक्षता में एक छह सदस्यीय समिति बनाई गई है।समिति के सामने अब तक 89 आवेदन आए, जिसमें से 54 आवेदन कमियों के चलते निरस्त कर दिए गए।

बीते दिनों पंचायत चुनाव के बढ़ी कोरोना संक्रमितों की मौत की संख्या में कई सरकारी विभागों के कर्मचारी भी शामिल थे। कोरोना संक्रमण के चलते इन कर्मचारियों के स्वजन काफी परेशान रहे। कभी पोर्टल पर उनकी मृत्यु की जानकारी अपडेट नहीं की गई तो किसी को अस्पताल से डेथ सर्टीफिेकेट नहीं मिला, जिसे मिला उसमें मौत की वजह कोविड नहीं लिखी गई। इकसे चलते सरकारी कार्यों में उन्हें परेशानी होती रही।

अब शासन ने अनुग्रह धनराशि के रूप में तीस लाख रुपये दिए जाने की बात कही है। इसके लिए उन्होंने सीडीओ की अध्यक्षता में छह सदस्यीय कमेटी गठित की। इसमें सीडीओ, एडीएम प्रशासन, सीएमओ, कोषाधिकारी, डीपीआरओ और संबंधित विभाग के अधिकारी को शामिल किया गया। यह समिति अनुग्रह धनराशि के लिए आने वाले आवेदनों को देखेगी। कर्मचारियों की मौत का कारण, मौत कब हुई। कौन कौन सी रिपोर्ट लगी हैं।

इसके लिए अब तक 89 आवेदन आ चुके हैं। कमेटी ने इसमें 35 लोगों को ही पात्र माना है। शेष को छोटी छोटी कमियों या कागजी कार्यवाही पूरी न होने के चलते उनके आवेदन निरस्त कर दिए हैं।अनुग्रह राशि के लिए आने वाले आवेदनों की जांच की जा रही है। कई आवेदनों में कई कमियां पाई गईं है। कई में कोविड पॉजिटिव की रिपोर्ट तो किसी में मौत का कारण और समय ही स्पष्ट नहीं था। अब तक 35 आवेदन को स्वीकार किया गया है। -चंद्र मोहन गर्ग, सीडीओ