दूसरी लहर में कोरोना वायरस के कारण 600 से अधिक डॉक्टरों की हुई मौत, सबसे ज्यादा दिल्ली और बिहार में गईं जान

 


कोविड अपडेट: दूसरी लहर में कोरोना वायरस के कारण 600 से अधिक डॉक्टरों की हुई मौत: IMA

दूसरी लहर में कोविड -19 के कारण कुल 646 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है। आईएमए ने कहा कि महामारी की पहली लहर में 748 डॉक्टरों की मौत हो गई थी। महाराष्ट्र में महामारी की दूसरी लहर के दौरान 23 डॉक्टरों ने दम तोड़ दिया है।

नई दिल्ली, एएनआइ। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने शनिवार को कहा कि देश में चल रही दूसरी लहर में कोविड -19 के कारण कुल 646 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है। आईएमए के अनुसार, दिल्ली में सबसे अधिक 109 मौतें हुईं, इसके बाद बिहार में 97, उत्तर प्रदेश में 79, राजस्थान में 43, झारखंड में 39, गुजरात में 37, आंध्र प्रदेश में 35, तेलंगाना में 34 और पश्चिम बंगाल में 30 मौतें हुईं। कोविड-19 रजिस्ट्री में 5 जून तक के आईएमए के आंकड़े को जारी किया गया है।

आईएमए ने कहा कि महामारी की पहली लहर में 748 डॉक्टरों की मौत हो गई थी। महाराष्ट्र में, महामारी की दूसरी लहर के दौरान 23 डॉक्टरों ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया है।

भारत कोरोना वायरस के मामलों में भारी उछाल से जूझ रहा है। मामलों की दैनिक संख्या में कमी आई है, लेकिन मौतों की संख्या अधिक बनी हुई है। भारत में 1,20,529 नए कोरोना वायरस के मामले रिपोर्ट हुए हैं। लगभग दो महीनों में संक्रमण में सबसे कम यह आंकड़ा रहा। वहीं, पिछले 24 घंटे में सामने आए मामलों के साथ देश में अब कुल संक्रमण का आंकड़ा 2,86,94,879 तक पहुंच गया है।

24 घंटे में 3,380 नई मौतें भी हुईं, जिनसे कोविद -19 से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 3,44,082 हो गई है। सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 15,55,248 हो गई है। राष्ट्रीय कोविड -19 रिकवरी दर में सुधार हुआ है, जो कि अब 93.08% है।

लगातार 23 दिनों तक ठीक होने वालों की संख्या रोजाना नए मामलों से ज्यादा है। बीमारी से स्वस्थ होने वालों की संख्या बढ़कर 2,67,95,549 हो गई, जबकि मृत्यु दर 1.19% है।