बुलंदशहर के खुर्जा से कड़ी सुरक्षा के बीच 90 किमी/घंटे की रफ्तार से निकली प्रेसीडेंशियल ट्रेन

 

खुर्जा से होकर गुजरी प्रे‍सीडेंटियल ट्रेन की तस्‍वीरें।

शुक्रवार दोपहर को दिल्ली से चलकर कानपुर के झींझक-रूरा रेलवे स्टेशन के लिए प्रेसीडेंशियल ट्रेन में सवार होकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कड़ी सुरक्षा के बीच खुर्जा जंक्शन से निकले। पुलिस ट्रैक किनारे जगह-जगह तैनात रही। इसके अलावां सुरक्षा एजेंसियों की भी निगरानी रही।

बुलंदशहर। शुक्रवार दोपहर को दिल्ली से चलकर कानपुर के झींझक-रूरा रेलवे स्टेशन के लिए प्रेसीडेंशियल ट्रेन में सवार होकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कड़ी सुरक्षा के बीच खुर्जा जंक्शन से निकले। पुलिस ट्रैक किनारे जगह-जगह तैनात रही।

शुक्रवार को प्रेसिडेंशियल ट्रेन निकलने के चलते सुबह से ही पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क था। दोपहर 1:55 बजे के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रेसिडेंशियल ट्रेन में सवार होकर खुर्जा जंक्शन से स्टेशन से निकले। ट्रेन की स्पीड 90 किलोमीटर प्रति घंटा थी। साथ ही ट्रेन में 15 बोगियां और दो इंजन थे। प्रेजिडेंशियल ट्रेन के निकलने से पहले पायलेट ट्रैन 1:45 पर खुर्जा जंक्शन से निकली। वही प्रेसीडेंशियल ट्रेन के निकले के बाद मिनट 2:05 बजे रियर ट्रैन निकली। तीनो ट्रेन 10 मिनट के अंतराल में निकाली गई। सुरक्षा के लिहाज से ट्रैक किनारे चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल सतर्क दिखाई दिया। इस दौरान प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी प्लेटफार्म पर मौजूद रहे।

बता दें कि दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर जनपद में छह स्टेशन पड़ते हैं। जिनमें तीन स्टेशन सिकंदराबाद और तीन स्टेशन खुर्जा क्षेत्र में हैं। इन सभी स्टेशनों पर ट्रेन के निकलने के दौरान पूरी तरह से सुरक्षा चाक-चौबंद रही। स्टेशनों पर आरपीएफ, जीआरपीएफ के अलावा स्थानीय पुलिसकर्मी भी सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किए गए थे। इतना ही नहीं जनपद में जो भी गांव रेलवे ट्रैक के नजदीक हैं। वहां पर भी ट्रैक के दोनों तरफ पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी। इसके अलावा प्रत्येक अंडरपास, रेलवे क्रासिंग, लोगों के मूवमेंट वाले क्षेत्र में भी पुलिस और पीएसी तैनात रहीं। ट्रेन के निकलने के दौरान किसी भी व्यक्ति को ट्रैक के आसपास नहीं जाने दिया गया।

सुरक्षा एजेंसियां रहीं सक्रिय

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दिल्ली से खुर्जा, अलीगढ़ होते हुए कानपुर जाने के कार्यक्रम को लेकर तमाम सुरक्षा एजेंसियां भी सक्रिय रहीं। सुरक्षा एजेंसियों द्वारा गुरुवार को ट्रैक की भी जांच-पड़ताल की गई। इतना ही नहीं सुरक्षा एजेंसियां क्षेत्र में पल-पल की गतिविधियों पर निगरानी रखती रहीं। करीब दोपहर पौने दो बजे प्रेसीडेंशियल ट्रेन खुर्जा से होकर गुजरी।