राजद्रोह मामले में फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना को केरल हाई कोर्ट ने दी अग्रिम जमानत

 


राजद्रोह मामले में फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना को केरल हाई कोर्ट ने दी अग्रिम जमानत

फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना को आज केरल हाई कोर्ट द्वारा अग्रिम जामनत मिल गई है। दरअसल आयशा पर राजद्रोह का मामला दर्ज था जिसके बाद उन्होंने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जानें पूरा मामला।

नई दिल्ली, एएनआइ। फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना को आज केरल हाई कोर्ट द्वारा अग्रिम जामनत मिल गई है। दरअसल, आयशा पर राजद्रोह का मामला दर्ज था, जिसके बाद उन्होंने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उनकी याचिका पर आज कोर्ट ने सुनवाई करते हुए यह जमानत दी। पिछले दिनों आयाश सुल्ताना ने एक टीवी डिबेट के दौरान लक्षद्वीप को लेकर बयान दिया था। इस दौरान उन्होंन कहा था कि केंद्र सरकार लक्षद्वीप में बायो वेपन यानी जैविक हथियाकर का इस्तेमाल कर रही है। इसी बयान के चलते उनके खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया गया था।

इस दौरान आयशा ने कहा था कि लक्षद्वीप में कोरोना का अभी तक एक भी मामला नहीं था, लेकिन यहां अब हर रोज 100 मामले आ रहे हैं। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार की ओर से यहां के प्रशासक प्रफल्ल पटेल को बायो वेपन की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। जिस तरह की उनकी नीतियों हैं उसके चलते ही यहां लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। बता दें कि आयशा के इस बयान के बाद उनको काफी आलोचनों का शिकार होना पड़ा था। भाजपा की तरफ से उनके इस बयान की आलोचना करते हुए आयशा के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। हालांकि, कई भाजपा के ऐसा नेता भी थे, जिन्होंने आयशा के खिलाफ राजद्रोह केस के बाद पार्टी छोड़ दी थी।

आयशा के खिलाफ अब्दुल खादर ने दर्ज कराया था केस

गौरतलब है कि आयशा इस बायन के बाद उनके खिलाफ भाजपा नेता अब्दुल खादर ने केस दर्ज कराया था। जिसके बाद आयशा से कावारत्ती पुलिस स्टेशन में तकरीबन तीन घंटे तक पूछताछ की गई थी। हालांकि, पूछताछ के बाद आयशा को छोड़ दिया गया है।