वायरस, मालवेयर और गैर-जरूरी कंटेंट से अपने डिवाइसेज को दूर रखने के लिए क्या है आसान तरीका


यह Airtel की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

आप विश्व में कहीं भी हो यदि आपके फोन या लैपटॉप में इंटरनेट लगा हुआ है तो आप आसानी से ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। इंटरनेट ने वर्क फ्रॉम होम को भी आसान बना दिया है। घर बैठे ऑफिस का काम किया जा सकता है।

नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। कोई भी टेक्नोलॉजी सॉल्यूशन लेकर आती है, जिसका इस्तेमाल करके हम अपनी लाइफ को और बेहतर बनाते हैं। पिछले एक दशक से स्मार्टफोन और उसमें लगे इंटरनेट ने हमें बता दिया कि अगर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना आ जाए, तो व्यवस्था भी अच्छी हो जाती है और जीवन भी आसान हो जाता है। टेक्नोलॉजी को समझने वाले यूजर्स आज इंटरनेट की मदद से कई काम कर रहे हैं, जो पहले संभव नहीं था। टिकट बुक करने से लेकर बिल जमा करने तक और शॉपिंग से लेकर वीडियो कॉलिंग तक हर काम स्मार्टफोन के जरिए आसानी से किया जा रहा है। यहीं नहीं, शिक्षा तक हमारी पहुंच भी आसान हो गई है। आप विश्व में कहीं भी हो यदि आपके फोन या लैपटॉप में इंटरनेट लगा हुआ है तो आप आसानी से ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। इंटरनेट ने वर्क फ्रॉम होम को भी आसान बना दिया है। घर बैठे ऑफिस का काम किया जा सकता है और क्लाइंट से बात भी की जा सकती है।

यह तो सच है कि टेक्नोलॉजी का हम भरपूर फायदा उठा रहे हैं। लेकिन टेक्नोलॉजी अपने साथ अनेक ख़तरे भी ले कर आती है जिससे हमें सतर्क व सावधान रहने की जरूरत है ताकि कोई हमारे फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि इंटरनेट से चलने वाले डिवाइसेज में सेंध न लगा सके। Airtel एक्सट्रीम फाइबर में सुरक्षा का ऐसा ही एक लेयर जुड़ चुका है जिसका नाम है सिक्योर इंटरनेट। अगर आपके घर में Airtel एक्सट्रीम फाइबर- ब्रॉडबैंड लगा हुआ है, तो आप भी इस फीचर का फायदा उठा सकते हैं।

इंटरनेट जिस तरह से तेजी से अलग-अलग क्षेत्रों में प्रवेश कर रहा है, उसे देखते हुए सुरक्षा के साथ इंटरनेट का एक्सपीरियंस लेना सबसे बड़ी चुनौती साबित हो रही है। धोखाधड़ी करने वाले लोग इंतजार में हैं कि आप कुछ गलत करें और वो आपके बैंक डिटेल्स, कार्ड डिटेल्स और पर्सनल डिटेल्स को चुरा ले तथा उसका गलत इस्तेमाल करे। फिशिंग स्कैम, ऑनलाइन फ्रॉड, वायरस और मैलवेयर, अश्लील और गैर-जरूरी कॉन्टेंट जैसे मामले इंटरनेट पर बहुत ही तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सुरक्षित रहकर इंटरनेट का एक्सपीरियंस कैसे लिया जाए इसके बारे में आपको सोचना चाहिए। 

घर में WiFi के जरिए इस्तेमाल होने वाले डिवाइसेज को सुरक्षित करने के लिए आप Airtel सिक्योर इंटरनेट फीचर का फायदा उठाएं। इस फीचर को सब्सक्राइब करना बहुत ही आसान है। इसके लिए सबसे पहले आप Thanks App पर जाएं। उसके बाद थैंक्स पेज पर टैप करें और फिर सिक्योर इंटरनेट पर जाएं। आखिर में सब्सक्राइब पर क्लिक करें। एक से दो मिनट में यह सर्विस एक्टिवेट हो जाएगी। इस फीचर के फायदे की बात करें तो इसमें वायरस प्रोटेक्शन, चाइल्ड सेफ, स्टडी मोड और वर्क मोड जैसे चार प्रोफाइल दिए गये हैं।   

वायरस प्रोटेक्शन प्रोफाइल WiFi से जुड़े सभी डिवाइसेज को वायरस और मैलवेयर से बचाने के लिए है। एडल्ट, सोशल और गेमिंग साइट व ऐप्स से बच्चों को दूर रखने के लिए चाइल्ड सेफ प्रोफाइल एक्टिवेट कर सकते हैं। अगर आप या घर में कोई सदस्य पढ़ाई कर रहा है या एग्जाम की तैयारी कर रहा है, तो स्टडी मोड प्रोफाइल के जरिए ध्यान भंग करने वाले कॉन्टेंट को ब्लॉक कराया जा सकता है। वर्क फ्रॉम होम के दौरान आप काम पर पूरी तरह से ध्यान लगा पाएं, इसके लिए सिक्योर इंटरनेट फीचर में वर्क मोड प्रोफाइल भी है। इसके जरिए आप एंटरटेनमेंट वेबसाइट, ऐप और वीडियो को ब्लॉक कर सकते हैं।

ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले किसी भी ऐप और वेबसाइट के जरिए आप तक पहुंच सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप, आपके घर के बच्चे और बुजुर्ग इंटरनेट का सुरक्षित इस्तेमाल करें। इसलिए आज ही Thanks App से सिक्योर इंटरनेट फीचर को एक्टिवेट कर लें। इसका पहला महीना बिल्कुल मुफ्त है और उसके बाद सिर्फ 99 रु प्रति महीने की दर से आप इस सर्विस को चालू रख सकते हैं।