एंटीगुआ पुलिस ने मेहुल चोकसी के अपहरण की जांच शुरू कर दी है: पीएम गैस्टन ब्राउन

 


एंटीगुआ पुलिस मेहुल चोकसी के अगला होने के दावे की जांच कर रही है।

डोमिनिका चाइना फ्रेंडशिप अस्पताल में भर्ती चोकसी को अवैध प्रवेश के आरोपों का जवाब देने के लिए डोमिनिका उच्च न्यायालय के आदेश पर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था जहां उसकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया था।

नई दिल्ली, पीटीआई। एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने बताया कि रॉयल पुलिस फोर्स ने फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को उसके वकीलों की शिकायत पर पड़ोसी डोमिनिका में कथित तौर पर अगवा करने की जांच शुरू कर दी है। ब्राउन ने कहा कि चोकसी के वकीलों ने एक शिकायत में पुलिस आयुक्त को कथित अपहरण में शामिल लोगों के नाम दिए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि चोकसी के वकीलों की तरफ से किया गया दवा अगर सही है तो यह बेहद गंभीर मामला है। ब्राउन ने कहा कि पुलिस शिकायत को गंभीरता से ले रही है। उन्होंने कहा, 'चोकसी ने एंटीगुआ और बारबूडा की रॉयल पुलिस फोर्स में शिकायत दर्ज कराई है कि उनका अपहरण कर लिया गया है। उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से औपचारिक दावा किया कि उन्हें एंटीगुआ से अपहरण कर डोमिनिका ले जाया गया था। पुलिस इस दावे को गंभीरता से ले रही है और वर्तमान में अपहरण की जांच कर रही है।

एसोसिएट्स टाइम्स की एक अन्य रिपोर्ट ने डोमिनिका के विपक्षी नेता लेनोक्स लिंटन के दावे को भी खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया था कि चोकसी को 23 मई को रात 10 बजे के आसपास अर्ने से नाव के जरिए डोमिनिका लाया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि सीमा शुल्क दस्तावेज के अनुसार, नाव 23 मई को सुबह 10 बजे एंटीगुआ से रवाना हुई थी, जबकि चोकसी के घरेलू कर्मचारियों ने कहा था कि वह शाम 5 बजे तक अपने आवास में था, जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि चोकसी ने नाव से यात्रा नहीं की थी, जिसका दावा लिंटन कर रहे हैं।

मेहुल चोकसी फिलहाल डोमिनिका चाइना फ्रेंडशिप अस्पताल में भर्ती है। अस्पताल के एक डॉक्टर के हवाले से कहा गया है कि चोकसी के वकीलों द्वारा बताई गई नाखून की चोट पुरानी है, जबकि अन्य घाव मामूली धक्का के कारण हो सकते हैं। चोकसी 23 मई को एंटीगुआ और बारबुडा से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था, जहां वह 2018 से एक नागरिक के रूप में रह रहा है। चोकसी के वकीलों ने आरोप लगाया था कि भारतीय दिखने वाले पुलिसकर्मियों ने उन्हें एंटीगुआ के जॉली हार्बर से अपहरण कर एक नाव के जरिए डोमिनिका ले आए।एंटीगुआ पुलिस ने मेहुल चोकसी के अपहरण की जांच शुरू कर दी है: पीएम गैस्टन ब्राउनy

डोमिनिका चाइना फ्रेंडशिप अस्पताल में भर्ती चोकसी को अवैध प्रवेश के आरोपों का जवाब देने के लिए डोमिनिका उच्च न्यायालय के आदेश पर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था जहां उसकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया था।

नई दिल्ली, पीटीआई। एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने बताया कि रॉयल पुलिस फोर्स ने फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को उसके वकीलों की शिकायत पर पड़ोसी डोमिनिका में कथित तौर पर अगवा करने की जांच शुरू कर दी है। ब्राउन ने कहा कि चोकसी के वकीलों ने एक शिकायत में पुलिस आयुक्त को कथित अपहरण में शामिल लोगों के नाम दिए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि चोकसी के वकीलों की तरफ से किया गया दवा अगर सही है तो यह बेहद गंभीर मामला है। ब्राउन ने कहा कि पुलिस शिकायत को गंभीरता से ले रही है। उन्होंने कहा, 'चोकसी ने एंटीगुआ और बारबूडा की रॉयल पुलिस फोर्स में शिकायत दर्ज कराई है कि उनका अपहरण कर लिया गया है। उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से औपचारिक दावा किया कि उन्हें एंटीगुआ से अपहरण कर डोमिनिका ले जाया गया था। पुलिस इस दावे को गंभीरता से ले रही है और वर्तमान में अपहरण की जांच कर रही है।

LIVE PM Narendra Modi Speech: वैक्सीनेशन की पूरी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की, राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएंगे

यह भी पढ़ें

एसोसिएट्स टाइम्स की एक अन्य रिपोर्ट ने डोमिनिका के विपक्षी नेता लेनोक्स लिंटन के दावे को भी खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया था कि चोकसी को 23 मई को रात 10 बजे के आसपास अर्ने से नाव के जरिए डोमिनिका लाया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि सीमा शुल्क दस्तावेज के अनुसार, नाव 23 मई को सुबह 10 बजे एंटीगुआ से रवाना हुई थी, जबकि चोकसी के घरेलू कर्मचारियों ने कहा था कि वह शाम 5 बजे तक अपने आवास में था, जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि चोकसी ने नाव से यात्रा नहीं की थी, जिसका दावा लिंटन कर रहे हैं।

उच्च स्तरीय मत्रियों समूह (GoM) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए डॉक्टर हर्षवर्धन

डॉक्टर हर्षवर्धन ने कोरोना महामारी, ब्लैक फंगस और टीकाकरण को लेकर की उच्च स्तरीय बैठक

यह भी पढ़ें

मेहुल चोकसी फिलहाल डोमिनिका चाइना फ्रेंडशिप अस्पताल में भर्ती है। अस्पताल के एक डॉक्टर के हवाले से कहा गया है कि चोकसी के वकीलों द्वारा बताई गई नाखून की चोट पुरानी है, जबकि अन्य घाव मामूली धक्का के कारण हो सकते हैं। चोकसी 23 मई को एंटीगुआ और बारबुडा से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था, जहां वह 2018 से एक नागरिक के रूप में रह रहा है। चोकसी के वकीलों ने आरोप लगाया था कि भारतीय दिखने वाले पुलिसकर्मियों ने उन्हें एंटीगुआ के जॉली हार्बर से अपहरण कर एक नाव के जरिए डोमिनिका ले आए।

Weather Report : जानें, अगले पांच दिनों के दौरान कैसा रहेगा देशभर में मौसम का हाल, कहां पहुंचा मॉनसून

यह भी पढ़ें

जनवरी 2018 में पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आने से पहले चोकसी और भतीजा नीरव मोदी भारत से भाग गए थे। नीरव मोदी यूरोप भाग गया था और बाद में उसे लंदन में पकड़ लिया गया जहां वह भारत को प्रत्यर्पण संबंधी मुकदमे का सामना कर रहा है। चोकसी ने 2017 में एंटीगुआ एंड बारबूडा की नागरिकता ले ली थी और दिल्ली से भागने के बाद वह वहीं रह रहा था।

जनवरी 2018 में पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आने से पहले चोकसी और भतीजा नीरव मोदी भारत से भाग गए थे। नीरव मोदी यूरोप भाग गया था और बाद में उसे लंदन में पकड़ लिया गया जहां वह भारत को प्रत्यर्पण संबंधी मुकदमे का सामना कर रहा है। चोकसी ने 2017 में एंटीगुआ एंड बारबूडा की नागरिकता ले ली थी और दिल्ली से भागने के बाद वह वहीं रह रहा था।