रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने असम में डीआरडीओ के कोरोना अस्पताल का किया दौरा

 


डीआरडीओ अस्पताल का निरीक्षण करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

मुख्यमंत्री सरमा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि रक्षा मंत्री ने अस्पताल का निरीक्षण किया और आश्वासन दिया कि जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल बाढ़ आश्रय शिविर के रूप में भी किया जा सकेगा। 10 जून को इस अस्पताल का उद्घाटन किया गया था।

गुवाहाटी, प्रेट्र। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को गुवाहाटी के एक स्टेडियम में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा बनाए गए कोरोना अस्पताल का दौरा किया। राजनाथ ने कहा कि असम सरकार के सहयोग से बनाए गए इस अस्पताल में 316 बेड हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में यह अस्पताल असम की मदद करेगा। इस मौके पर राजनाथ के साथ असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा और स्वास्थ्य मंत्री केशब महंत भी मौजूद थे।

बाढ़ आश्रय शिविर के रूप में भी किया जा सकेगा इसका इस्तेमाल

सरमा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि रक्षा मंत्री ने अस्पताल का निरीक्षण किया और आश्वासन दिया कि जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल बाढ़ आश्रय शिविर के रूप में भी किया जा सकेगा। 10 जून को इस अस्पताल का उद्घाटन किया गया था। 20 जून से यह काम करना शुरू कर देगा।

सरमा ने बताया कि राज्य में संक्रमण की दर में कमी को देखते हुए फैसला लिया गया है कि गुवाहाटी के तीन कोरोना अस्पतालों में गैर-कोरोना मरीजों का भी इलाज किया जाएगा।

इससे पहले राजनाथ सिंह ने कामाख्या मंदिर जा कर पूजा अर्चना की 

कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए पाबंदी लागू होने के कारण मंदिर फिलहाल बंद चल रहा है और राजनाथ सिंह ने मुख्य द्वार के बाहर ही प्रार्थना की। रक्षा मंत्री बृहस्पतिवार की शाम को यहां पहुंचे। इससे पहले उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के किमिन में सीमा सड़क संगठन द्वारा निर्मित 12 सामरिक सड़कों का लोकार्पण किया था। रक्षा मंत्री ने राजभवन में रात्रि विश्राम किया जहां राज्यपाल जगदीश मुखी ने उनके सम्मान में रात्रि भोज आयोजित किया। इस भोज में सरमा, पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और विधानसभा अध्यक्ष विश्वजीत दैमारी भी मौजूद थे। नए कोविड अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद सिंह नयी दिल्ली रवाना हो गए। बड़े अप्‍लायंसेज/फैशन और भी बहुत कुछ, आज की ऐमजॉन बेस्‍ट डील्‍स में पाएं 60 फीसद तक की