प्रतापगढ़ी को कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का प्रमुख बनाए जाने का विरोध

 


पार्टी कार्यकर्ता और मुस्लिम संगठन विरोध में उतर आए हैं

अपनी नियुक्ति के बाद प्रतापगढ़ी ने ट्वीट कर कहा नेतृत्व और अल्पसंख्यक विभाग द्वारा व्यक्त किए गए विश्वास पर खरा उतरने के लिए मैं कड़ी मेहनत करने की कोशिश करूंगा। लोगों के मुद्दों के लिए मैं सड़कों पर उतरूंगा।

नई दिल्ली, आएएनएस। कांग्रेस के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का प्रमुख प्रख्यात शायर इमरान प्रतापगढ़ी को बनाए जाने का विरोध न सिर्फ पार्टी कार्यकर्ता कर रहे हैं बल्कि मुस्लिम संगठन भी विरोध में उतर आए हैं। इसकी वजह यह है कि प्रतापगढ़ी ने कभी कांग्रेस संगठन के लिए काम नहीं किया है और वह सिर्फ पार्टी के प्रचारक रहे हैं। उन्होंने 2019 में मुरादाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे।

अपनी नियुक्ति के बाद प्रतापगढ़ी ने ट्वीट कर कहा, 'नेतृत्व और अल्पसंख्यक विभाग द्वारा व्यक्त किए गए विश्वास पर खरा उतरने के लिए मैं कड़ी मेहनत करने की कोशिश करूंगा। लोगों के मुद्दों के लिए मैं सड़कों पर उतरूंगा।' लेकिन उनकी नियुक्ति पर मजलिस ए मुहावरात के नावेद हामिद ने कहा, 'अल्पसंख्यक विभाग, जिसने अतीत में जाफर शरीफ, अर्जुन सिंह, एआर अंतुले जैसे लोगों को देखा है, को अब एक पेशेवर शायर को सौंप दिया गया है।'