डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर सतर्क है गोवा, महाराष्ट्र से आने वालों को सीमा पर करानी होगी 'स्क्रीनिंग'

 


डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर सतर्क है गोवा, महाराष्ट्र से आने वालों को सीमा पर करानी होगी 'स्क्रीनिंग'

डेल्टा प्लस वैरिएंट से फैलने वाले कोरोना संक्रमण को लेकर गोवा सतर्कता बरत रहा है। इस क्रम में महाराष्ट्र से यहां आने वाले यात्रियों के लिए स्क्रीनिंग को अनिवार्य कर दिया गया है। यह विशेषकर सिंधुदुर्ग जिले के लिए है।

पणजी, आइएएनएस। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप से निकल रहे देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। गोवा सरकार  ने महाराष्ट्र से आने वाले लोगों के लिए स्क्रीनिंग की शुरुआत की है विशेषकर वहां के दक्षिणी सिंधुदुर्ग जिले  से जहां डेल्टा प्लस वैरिएंट का पहला मामला सामने आया था। यह जानकारी गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को दी।

प्रदेश भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय में मुख्यमंत्री ने कहा, 'हमने महाराष्ट्र से विशेषकर वहां के सिंधुदुर्ग जिले से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी है। सीमा पर इसके लिए लैब का भी इंतजाम किया जा रहा है। संदेहास्पद मामलों को आइसोलेट भी किया जा रहा है।'

अपने सोशल मीडिया पेज पर स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे (Health Minister Vishwajit Rane) ने बताया कि मुख्यमंत्री सावंत के साथ मिलकर वे लगातार हालात की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। पड़ोसी राज्यों में डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमण के मामले पाए जाने के मद्देनजर सीमा पर सख्ती बरती जा रही है। उन्होंने बताया कि गोवा में अब तक डेल्टा प्लस वैरिएंट का एक भी मामला नहीं आया है। राणे ने कहा, 'मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने पहले ही इस मामले में निर्देश जारी कर दिए हैं। हमें सीमा पर यह सुनिश्चित करना है कि वायरस का वैरिएंट राज्य में न आए।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इस सप्ताह भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ के पार चला गया। आज सुबह जारी रिपोर्ट की माने तो बीते 24 घंटों में देश में 51,667 नए संक्रमितों की पहचान हुई और 1,329 संक्रमितों की मौत हो गई। इसके बाद अब तक कुल कुल पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा 3,01,34,445 हो गया है और मरने वालों की संख्या 3,93,310 है।

2019 के अंत में कोरोना संक्रमण का पहला मामला चीन के वुहान में आया था जिसके दो-तीन माह के बाद ही यह महामारी बन पूरी दुनिया में फैल गया। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार दुनिया में अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 179,928,730 हो गया है और मरने वालों का वैश्विक आंकड़ा 3,898,531 है। दुनिया के सभी देशों में सबसे बुरा हाल अमेरिका का है। यहां अब तक कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 33,590,360 हो गई है और मरने वाले संक्रमितों का आंकड़ा 603,149 है।