अगले साल पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव पर भाजपा का मंथन, सरकार और संगठन के बीच समन्वय और तालमेल पर जोर

 


पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा बुलाई गई बैठक

अगले साल पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सरकार और संगठन के बीच समन्वय और तालमेल बेहतर बनाने की कोशिशों के तहत शीर्ष भाजपा नेताओं ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय में गहन मंथन किया।

नई दिल्ली, एएनआइ। अगले साल पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सरकार और संगठन के बीच समन्वय और तालमेल बेहतर बनाने की कोशिशों के तहत शीर्ष भाजपा नेताओं ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय में गहन मंथन किया। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा बुलाई गई इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित कई केंद्रीय मंत्री उपस्थित थे। अगले साल उत्तर प्रदेश जैसे अहम राज्य के अलावा उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में चुनाव होने हैं और भाजपा विभिन्न स्तरों पर अपनी तैयारियों को परख रही है। प्रेट्र के मुताबिक, बैठक के बाद पार्टी के एक नेता ने बताया कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की तैयारियां ही बैठक का मुख्य एजेंडा था।

पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा की बुलाई बैठक में केंद्र सरकार के कई बड़े मंत्री रहे मौजूद

सूत्रों ने कहा कि बैठक में चर्चा का मुख्य मुद्दा पार्टी नेताओं और कैबिनेट मंत्रियों के बीच समन्वय को मजबूत करना था। इसके अलावा सरकारी योजनाओं के प्रभाव में सुधार लाकर लोगों का अधिकतम समर्थन हासिल करने पर भी चर्चा की गई। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों और भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ बैठक की थी।शनिवार की बैठक में कोरोना के कारण पैदा हुईं चुनौतियों से निपटने की तैयारियों पर भी विचार-विमर्श किया गया, खासकर भाजपा शासित राज्यों में। इसमें भाजपा के नेतृत्व वाली सरकारों द्वारा महामारी के दौरान की गई लोगों की मदद और महामारी के प्रभाव को न्यूनतम करने के प्रयासों को रेखांकित करने की जरूरत पर जोर दिया गया।

टकराव के बजाय तालमेल की जरूरत पर चर्चा

एक सूत्र ने बताया, 'मंत्रियों से कहा गया है कि वे पार्टी सांसदों और अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय को बेहतर बनाएं। टकराव के बजाय तालमेल की जरूरत पर चर्चा की गई। केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए सांसदों और विधायकों समेत संगठन के सहयोग की जरूरत पर जोर दिया गया।' एक अन्य सूत्र ने बताया, 'पार्टी इन कार्यो के लिए रोडमैप बनाएगी और इनका जायजा भी लिया जाएगा।' बैठक में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, स्मृति ईरानी, हरदीप सिंह पुरी, धर्मेद्र प्रधान, किरण रिजिजू और प्रल्हाद जोशी के अलावा भूपेंद्र यादव और अन्य वरिष्ठ पार्टी नेता भी उपस्थित थे।