अफगानिस्तान पर नजर रखने के लिए अमेरिका ने सैन्य अड्डा बनाने के लिए पाकिस्तान पर बनाया दबाव, जानें- ताजा गतिविधि

 


अफगानिस्तान पर नजर रखने के लिए अमेरिका ने सैन्य अड्डा बनाने के लिए पाकिस्तान पर बनाया दबाव

अफगानिस्तान फिर बन सकता है आतंकी संगठनों का ठिकाना। अमेरिका द्वारा सैन्य खुफिया और राजनयिक स्तर पर पाकिस्तान को राजी करने के लिए विस्तृत चर्चा की गई है। उनकी योजना अफगानिस्तान को फिर आतंकवादियों का अड्डा न बनने देने की है।

इस्लामाबाद, आइएएनएस। तेज होती हिंसा के बीच अमेरिका को अब यह लगने लगा है कि जल्द अफगानिस्तान आतंकवादी ठिकाने में बदल जाएगा। अमेरिका ने पाकिस्तान पर उसके जमीन और हवाई क्षेत्र को इस्तेमाल करने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया है। वह यहां अपना सैन्य अड्डा स्थापित करना चाहता है।

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि सैन्य, खुफिया और राजनयिक स्तर पर पाकिस्तान को राजी करने के लिए विस्तृत चर्चा की गई है। उनकी योजना अफगानिस्तान को फिर आतंकवादियों का अड्डा न बनने देने की है। जहां एक बार फिर तालिबान के साथ अलकायदा और आइएस के गठबंधन की संभावना बन गई है। सुलिवन ने कहा कि हम अफगानिस्तान के पड़ोसी देशों से वार्ता कर रहे हैं और विकल्प तलाशने की कोशिश कर रहे हैं।

अफगानिस्तान में दस लोगों की हत्या

अफगानिस्तान के बगलान प्रांत में बारूदी सुरंग साफ करने वाली हेलो ट्रस्ट डी माइनिंग कंपनी के दस कर्मचारियों की आतंकवादियों ने हत्या कर दी। इस घटना में कंपनी के 14 कर्मचारी घायल हुए हैं। कंपनी के कर्मचारी अपना काम खत्म करने के बाद शिविर में थे, तभी अज्ञात हमलावरों ने उन पर हमला कर दिया। संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने एक बयान में घटना को बर्बर कार्रवाई बताया है। बयान में कहा है कि ये लोग सहायता कार्यकर्ता और मानवीय कानून के तहत संरक्षित हैं। संयुक्त राष्ट्र ने हमला करने को लेकर चेतावनी भी दी है।तालिबान ने एक अन्य घटना में अफगान सरकार के एक एमआइ-17 हेलिकाप्टर को गिराने का दावा किया है। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई