मिमी चक्रवर्ती ने लगवाई फर्जी कोरोना वैक्सीन, अभिनेत्री और टीएमसी सांसद की बिगड़ी तबियत

 


मिमी चक्रवर्ती जादवपुर से टीएमसी पार्टी की सांसद हैl

मिमी चक्रवर्ती कहती है उन्होंने मुझसे कहा कि कुछ समय में टेक्स्ट मैसेज आएगाl मैं इंतजार करती रही लेकिन दोपहर में मैंने फिर उनसे संपर्क कियाl तब उन्होंने मुझे कहा कि तीन-चार दिन में सर्टिफिकेट आएगाl तब मुझे लगा कि मामले में कुछ गड़बड़ हैl

नई दिल्ली l मिमी चक्रवर्ती एक अभिनेत्री होने के साथ-साथ सांसद भी हैंl हाल ही में वह एक फर्जी वैक्सीन ड्राइव का शिकार हुई हैl उन्होंने कोलकाता के कस्बा एरिया में चल रहे वैक्सीनेशन कैंप में भाग लिया थाl वैक्सीन लगने के चलते शनिवार की सुबह वह बीमार पड़ गईl डॉक्टरों का कहना है कि मिमी चक्रवर्ती को डिहाइड्रेशन, लो ब्लड प्रेशर और पेट में दर्द हैl उन्होंने यह भी कहा कि मिमी की बीमारी पैनिक अटैक के कारण भी हो सकती हैl

मिमी चक्रवर्ती जादवपुर से टीएमसी पार्टी की सांसद हैl उनकी शुक्रवार से ही तबीयत बिगड़नी शुरू हो गई थीl खबरों की माने तो वह बेहोश भी हो गई थीl उन्हें पसीना भी आया थाl इसके बाद उन्होंने डॉक्टर से सलाह लीl मिमी चक्रवर्ती को गॉलब्लैडर और लिवर से जुड़ी समस्याएं हैंl इसके पहले फेक कोरोना वायरस वैक्सीनेशन से जुड़े व्यक्ति को कोलकाता पुलिस ने कस्बा एरिया से गिरफ्तार कर लिया हैl उन्हें कस्टडी में भेज दिया गया हैl मिमी चक्रवर्ती ने आरोपी के खिलाफ कंप्लेंट भी दर्ज कराई हैl

शुक्रवार की सुबह मिमी के सेक्रेटरी को आरोपी ने केएमसी के ज्वाइंट कमिश्नर के तौर पर फोन किया और उन्हें कोरोना वैक्सीन ड्राइव में भाग लेने के लिए आमंत्रित कियाl यह वैक्सीनेशन सेंटर थर्ड जेंडर और दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित किया गया थाl इस बारे में बताते हुए मिमी ने कहा, 'मैं वहां जाने को लेकर उत्सुक थी ताकि अन्य लोग भी वैक्सीन लगवाए लेकिन मुझे यह नहीं पता था कि यहां दिनदहाड़े नकली वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया हैl

मिमी ने यह भी कहा कि उन्होंने उसी कैंप में वैक्सीन लगवाई ताकि अन्य लोग भी प्रेरणा लेl जब उन्होंने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के बारे में पूछाl तब मामले का भंडाफोड़ हुआl मिमी कहती है, 'उन्होंने मुझसे कहा कि कुछ समय में टेक्स्ट मैसेज आएगाl मैं इंतजार करती रही लेकिन दोपहर में मैंने फिर उनसे संपर्क कियाl तब उन्होंने मुझे कहा कि तीन-चार दिन में सर्टिफिकेट आएगाl तब मुझे लगा कि मामले में कुछ गड़बड़ हैl मैंने अपने ऑफिस के स्टाफ से तुरंत एरिया खाली करवाने के लिए कहा और मैंने पुलिस स्टेशन को फोनकर पुलिस बुला लीl' आरंभिक जांच के बाद पुलिस ने बड़े पैमाने पर कोविशिल्ड के नकली लेबल और इंजेक्शन जप्त कर लिए हैं।