राजधानी में रहने वाले दूसरे राज्य के लोगों से नफरत करते हैं केजरीवालः मनोज तिवारी

 


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार गरीबों को धोखा दे रही है।

भाजपा ने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना लागू नहीं करके गरीबों को केंद्र सरकार की मुफ्त स्वास्थ्य सेवा से वंचित रख रही है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि सरकार दिल्ली के गरीबों को धोखा दे रही है।

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। भाजपा ने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना लागू नहीं करके गरीबों को केंद्र सरकार की मुफ्त स्वास्थ्य सेवा से वंचित रख रही है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि सरकार दिल्ली के गरीबों को धोखा दे रही है। दिल्ली के 55 लाख लोगों को इस योजना का लाभ मिल सकता है। इस योजना के तहत पांच लाख रुपये का मुफ्त इलाज होता है। देशभर में 1.84 से ज्यादा लोगों को इसका लाभ मिला है, लेकिन दिल्ली के लोग इससे वंचित हैं।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने दिल्ली सरकार से इस योजना को लागू करने की मांग की थी। उस समय दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि वह इससे बेहतर योजना लागू करेंगे जिसमें दिल्ली के सभी लोग कवर होंगे और 30 लाख रुपये तक का इलाज हो सकेगा। आजतक उनकी योजना लागू नहीं हुई। यदि आयुष्मान योजना लागू होती तो गरीबों और निजी अस्पतालों में लाखों रुपये देने वालों को लाभ मिलता। इस योजना को लागू नहीं करने से लगता है कि दिल्ली सरकार का निजी अस्पतालों के साथ सांठगांठ है।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि उपमुख्यमंत्री ने कहा था कि बजट उनके लिए गीता, गुरुग्रंथ साहिब, कुरान व बाइबल की तरह है। इसके बावजूद उन्होंने बजट में घोषणा के बाद भी आयुष्मान योजना लागू नहीं किया। हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट के कहने के बावजूद यह योजना अबतक लागू नहीं है। मानव अधिकार आयोग ने कहा है कि दिल्ली में कोरोना महामारी की वजह से गरीब इलाज के बगैर मर रहे हैं, इसलिए दिल्ली में तुरंत आयुष्मान योजना लागू होना चाहिए। यदि यह योजना लागू होती तो कई लोगों की जान बच जाती।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री दिल्ली में रहने वले दूसरे राज्य के लोगों का अपमान करते हैं। उन्होंने कहा था कि बिहार से कोई व्यक्ति पांच सौ रुपये का टिकट लेकर आता है और यहां के अस्पताल में पांच लाख का आपरेशन कराकर चला जाता है। पिछले वर्ष लाकडाउन होने पर दूसरे राज्य के लोगों को आनंद विहार बस अड्डे पर बुलाकर पलायन करने पर मजबूर किया गया था। केजरीवाल सरकार की वजह से दिल्ली की स्वास्थ्य सुविधाएं बदहाल हो गई है।