हस्तेक्षप को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने लिखा पीएम मोदी को पत्र


प्रधानमंत्री आवास योजना में हस्तेक्षप को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने लिखा पीएम मोदी को पत्र

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) में हस्तक्षेप को लेकर पत्र लिखा है। सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने PMAY के तहत राज्य सरकारों को दी गई सहायता के हिस्से के रूप में ग्रीनफील्ड के संदर्भ में अपनी बात रखी।

हैदराबाद, एएनआइ। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) में हस्तक्षेप को लेकर पत्र लिखा है। पीएम मोदी को लिखे पत्र में सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने PMAY के तहत राज्य सरकारों को दी गई सहायता के हिस्से के रूप में ग्रीनफील्ड कॉलोनियों में बुनियादी ढांचे के निर्माण को शामिल करने और इस संबंध में मंत्रालयों को निर्देश देने के लिए उनके हस्तक्षेप की मांग की है।

मुख्यमंत्री  ने पत्र में लिखा है कि PMAY, MoHua और ग्रामीण विकास मंत्रालय के जरिए संचालित की जा रही है।  जब भारत आजादी के 75 साल पूरे करेगा तो 2022 तक इडब्लयूएस (EWS) वर्ग के लोगों को पक्का घर देने का वादा इस योजना के तहत किया गया है। सीएम ने कहा कि आंध्र प्रदेश सरकार ने ‘सभी के लिए घर’ के विजन को आगे बढ़ाने का काम किया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में करीब 68381 एकड़ जमीन को अधिग्रहित करके हाउस साइट्स को वितरित किया है। 17005 ग्रीनफील्ड कॉलोनी में 30.76 लाख लाभार्थी हैं। इसकी अनुमानित लागत 23535 है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम 17005 ग्रीनफील्ड कॉलोनियोयों में 28.30 लाख पक्के घर पीएमएवाई (PMAY)अर्बन और ग्रामीण कार्यक्रम के तहत बना रहे हैं, जिसकी अनुमानित लागत 50,944 करोड़ रुपए है।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध करते हुए लिखा कि ग्रीनफील्ड कॉलोनियों में मूलभूत सुविधाओं को मुहैया कराए बिना इस योजना का विजन पूरा नहीं हो सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इस कार्य में लगी हुई है, लेकिन अतिरिक्त लागत का भार राज्य सरकार पर पड़ रहा है।