दुष्कर्म पीड़िता के स्वजन को पंचायत का तुगलकी फरमान, फैसला करो या गांव छोड़ो


एसपी के आदेश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं।

हापुड़ गांव निवासी व्यक्ति ने बताया कि चार दिन पूर्व उसकी 15 वर्षीय पुत्री को पेट में दर्द की शिकायत की। शिकायत पर उसको स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। वहां उसको चिकित्सक द्वारा गर्भवती होने की जानकारी दी ।

ब्रजघाट । कोतवाली क्षेत्र के गांव निवासी 15 वर्षीय लड़की से गांव निवासी युवक ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया। किशोरी की तबीयत बिगड़ने पर उसके गर्भवती होने की जानकारी हुई। इसको लेकर पीड़िता के स्वजन अचंभित रह गए। पीड़िता से घटना की सही जानकारी मिलने पर उसके पिता आरोपित के घर पहुंचे तो आरोपित ने पुलिस में शिकायत करने पर परिवार सहित जान से मारने की धमकी दी। जानकारी गांव के गणमान्य लोगों को हुईं तो पंचायत बुलाई गई। पंचायत में पीड़ित के स्वजन को घटना को दबाकर फैसला करने और आदेश का पालन नहीं करने पर गांव से जाने का तुगलकी फरमान सुना दिया। पीड़ित द्वारा एसपी को शिकायत की तो एसपी के आदेश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं।

गांव निवासी व्यक्ति ने बताया कि चार दिन पूर्व उसकी 15 वर्षीय पुत्री को पेट में दर्द की शिकायत की। शिकायत पर उसको स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। वहां उसको चिकित्सक द्वारा गर्भवती होने की जानकारी दी। चिकित्सक द्वारा मामले की सहीं जानकारी देने पर उसके पैर तले जमीन निकल गई।

पीड़ित ने आरेपित के घर जाकर बात कहीं तो आरोपित ने उसको पुलिस में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दे डाली। उसके बाद गांव के कुछ लोगों ने पंचायत कर डाली। पंचायत में पीड़िता के पिता को बुलाया गया। जहां उसको घटना में फैसला करने का दवाब बनाया, लेकिन पीड़ित ने उसका विरोध किया ताे लोगों ने उसको फैसला न करने पर गांव छोड़ने का तुकलकी फरमान सुना डाला। पंचायत का फरमान सुनने के बाद से पीड़ित परिवार भयभीत है। पीड़ित ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। वहीं पुलिस ने भी घटना में तत्परता दिखाते हुए पीड़ित द्वारा दिए एसपी को दिए गए पत्र पर आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

फरमान सुनकर पीड़िता की मां को पड़ा दिल का दौरा

गांव में पुत्री के साथ पांच माह तक दुष्कर्म किए जाने के बाद गर्भवती होने की जानकारी मिलने पर पीड़िता की मां परेशान है। वहीं उसने जब पंचायत में गांव छोड़ने के फरमान की जानकारी मिली तो उसको दिल का दौरा पड़ गया। पीड़िता की मां की हालत अभी भी ठीक है। उसक मांग है कि आरोपित को जल्द से जल्द सजा मिले।

पुलिस ने कहा

पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन ने बताया कि पंचायत की बात प्रकाश में नहीं आई है। शादी का झांसा देकर आरोपित ने शारीरिक संबंध स्थापित कर लिए। शादी से इंकार करने पर मामले थाने में पहुंचा था।अधिकारिक स्तर से मामले की जांच कराकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।