घोड़ी चढ़कर बरात में जाने का सपना संजोए था दूल्हा, दुल्हन की असली उम्र जानकर रह गया दंग

 


दूल्हे के घोड़ी चढ़ने से संबंधित प्रतीकात्मक फोटो।

महोबकंठ थानाक्षेत्र के माधवगंज निवासी अलखराम की शादी थाना क्षेत्र के ही बीहट गांव की एक लड़की से तय हुई है। 18 जून को शादी होनी है। इंटरनेट मीडिया पर इस मुद्दे को लगातार गरमाने को लेकर प्रशासन ने अब सख्त रुख अपनाया है।

महोबा। घोड़ी चढ़कर बरात ले जाने का अलखराम का सपना, महज सपना बनकर ही रह गया। दरअसल, इस मामले जाे नया तथ्य सामने आया उसने अलखराम के अरमानों पर पानी फेरने का काम किया। जिसके चलते अब उसे शादी के लिए इंतजार करना पड़ेगा। इधर इंटरनेट मीडिया पर इस मुद्दे को लगातार गरमाने को लेकर प्रशासन ने अब सख्त रुख अपनाया है और भड़काऊ-अशोभनीय टिप्पणी करने वालों को चिह्नित कर कार्रवाई करने की तैयारी है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में कोई विरोध नहीं है। चर्चा में रहने के लिए बेवजह इसे विवाद का रूप दिया जा रहा है।

ये है पूरा मामला:  महोबकंठ थानाक्षेत्र के माधवगंज निवासी अलखराम की शादी थाना क्षेत्र के ही बीहट गांव की एक लड़की से तय हुई है। 18 जून को शादी होनी है। करीब 15 दिन पहले अलखराम के पिता गयादीन ने महोबकंठ थाने में तहरीर देकर ग्रामीणों पर आरोप लगाया था कि देश की आजादी से आज तक माधवगंज में अनुसूचित जाति के लोगों की बरात निकासी घोड़ी पर नहीं हुई है। गांव के कुछ लोग दूल्हे को घोड़ी पर नहीं बैठने देना चाहते हैं। तहकीकात की गई तो सच कुछ और ही निकला। काशीपुरा के प्रधान प्रतिनिधि गजेंद्र सिंह कहते हैं कि गांव में बरात कैसे निकलेगी इसको लेकर किसी का क्या लेना देना। अलखराम के चाचा हरीदास ने बताया कि कभी भी किसी समाज के दूल्हे को घोड़ी पर बैठने के लिए नहीं रोका गया। न ही अलखराम को रोका गया। बिना मतलब का मुद्दा बनाए हैं।

दुल्हन की उम्र ने मचाया बवाल: वधू की उम्र को लेकर विवाद हुआ तो अलखराम ने कहा कि लड़की के आधार कार्ड में 08/06/2004 जन्मतिथि लिखी है, वही मार्कशीट में भी दर्ज है, मार्कशीट किस कक्षा की है ये अलखराम ने नहीं बताया। अब वह शादी के लिए इंतजार करेगा। इधर प्रधान प्रतिनिधि गजेंद्र सिंह, बहादुर, भरत, सोनू ने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर लड़की की उम्र आधार कार्ड के हिसाब से 17 साल 2 दिन बताई जा रही है। 

इनका ये है कहना:

  • एसपी सुधा सिंह ने बताया कि इस प्रकरण को लेकर लोग तरह-तरह की टिप्पणी कर रहे हैं, इंटरनेट मीडिया पर टिप्पणी करने वालों को चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी। महोबकंठ पुलिस जांच कर रही है। गांव के 80 लोगों को शांति भंग की आशंका में पहले ही पाबंद किया जा चुका है। 
  • कुलपहाड़ तहसील क्षेत्र के एसडीएम सुथान अब्दुल्ला का कहना है कि अभी तक किसी ने शिकायत नहीं की है। लड़की अगर बालिग होगी तो ही शादी की इजाजत मिलेगी। कानून का पालन तो सभी को करना होगा।