चेक गणराज्य में उठा खतरनाक बवंडर, पांच लोगों की गई जान और सैकड़ों घायल

 


चेक गणराज्य में बवंडर से तीन लोगों की मौत, सैकड़ों घायल

चेक गणराज्य में आए खतरनाक बवंडर ने तबाही मचा दी है। सैंकड़ों लोग इसमें घायल बताए जा रहे हैं और अब तक तीन लोगों की मौत भी हो चुकी है। तूफान में हवा की स्पीड 332 किमी प्रति घंटा तक पहुंचने की आशंका जताई गई है।

प्राग, एपी। दक्षिण-पूर्वी चेक गणराज्य में आए खतरनाक बवंडर के कारण तबाही का मंजर है। इसके कारण यहां तीन लोगों की मौत हो गई और सैंकड़ों घायल हैं। गुरुवार रात को उठा तूफान इतना अधिक खतरनाक था कि यहां के सात शहरों व कई गावों तक बुरा हाल है। राहत और बचाव सेवा ने शुक्रवार को इस बवंडर की जानकारी दी। यह बवंडर बृहस्पतिवार देर रात शुरू हुआ और गरज के साथ पूरे देश में दस्तक दे दी।

सात कस्बे और गांव बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। यहां कई इमारतें मलबे में तब्दील हो गईं। इसके कारण कारें पलट गईं और 1,20,000 घरों में बिजली की आपूर्ति बाधित हो गई। करीब 360 अतिरिक्त पुलिस अधिकारियों को सेना के साथ इलाकों में भेजा गया। देश के विभिन्न हिस्सों से बचावकर्मी प्रभावित इलाकों में पहुंच रहे हैं और यहां उन्हें पड़ोसी देश ऑस्ट्रिया और स्लोवाकिया के अपने समकक्षों से भी मदद मिल रही है। यहां ड्रोन और हेलीकॉप्टर की मदद से मलबे की तलाश की जा रही है।

प्राग के 270 किमी दक्षिण पूर्व, स्लोवाक और ऑस्ट्रियाई सीमाओं के साथ लगे होडोनिन (Hodonin) के आसपास के शहरों को इस बवंडर ने अपने चपेट में ले लिया। चेक मौसम विभाग के अनुसार 332 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। 2018 के बाद से ऐसा पहला तूफान सेंट्रल यूरोपीय देशों में आया है। यहां का कोई कोई कस्बा तो आधे से अधिक खत्म हो चुका है, स्कूल की इमारत गायब है चर्चा भी बगैर इमारत हो गई है।

क्षेत्रीय बचाव सेवा ने कहा कि कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई। प्रधानमंत्री एंद्रेज बाबिस (Andrej Babis) ने इसे एक बड़ी विपदा करार दिया है। वह इस घटना के समय यूरोपीय संघ के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए ब्रसेल्स में थे। उनकी योजना शुक्रवार को बेहद प्रभावित इलाकों का निरीक्षण करने की है।