रूस के अस्‍पताल में खराब वेंटिलेटर से लगी कोविड वार्ड में आग, तीन मरीजों की दर्दनाक मौत


रूस के अस्‍पताल में लगी आग से तीन की मौत

मास्‍को से करीब 200 किमी दूर स्थित एक अस्‍पताल में लगी आग में तीन लोगों की मौत हो गई। ये आग कोविड वार्ड की इंटेंसिव केयर यूनिट में लगी। प्रशासन का कहना है कि इसकी वजह खराब वेंटिलेटर हैं।

मास्‍को (रॉयटर्स)। रूस के रयाजान शहर के एक अस्‍पताल में आग लगने से तीन मरीजों की दर्दनाक मौत हो गई है। जिस अस्‍पताल में ये हादसा हुआ है वहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा था। प्रशासन के मुताबिक एक अधिकारी ने इस आग लगने की घटना के पीछे खराब वेंटिलेटर्स को जिम्‍मेदार ठहरया है। आपको बता दें कि रूस में कोरोना महामारी की शुरुआत से अब तक कई अस्‍पतालों की इंटेंसिव केयर यूनिट में इसी तरह के हादसे हो चुके हैं। डॉक्‍टरों का कहना है कि गंभीर मरीजों की जान बचाने के लिए इस्‍तेमाल किए ता रहे वेंटिलेटर के खराब होने की वजह से ऐसा हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक आग लगने की ये घटना बुवार को मास्‍को से करीब 180 किमी दूर स्थित रयाजाना शहर में हुई। इस हादसे पर गहरा दुख जताते हुए गवर्नर निकोलाई ल्‍यूबिमोव ने स्‍टेट टीवी पर कहा कि वार्ड में लगे वेंटिलेटर के अधिक गर्म होने की वजह से इसमें आग लग गई। इंटरफेक्‍स न्‍यूज एजेंसी के मुताबिक वहां मौजूद अस्‍पताल कर्मी ने इस आग पर काबू पाने की कोशिश की और उस पर एक्‍सटिंग्‍शर भी डाला लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। इस हादसे में नर्स भी झुलस गई हैं।

इस तरह के हादसों की जांच करने वाली इंवेस्टिगेशन कमेटी का कहना है कि वो इसकी आपराधिक जांच करेंगे जिसमें वो ये पता लगाएंगे कि ये आग वेंटिलेटर में आई खराबी की वजह से लगी या फिर इसके पीछे किसी तरह की लापरवाही थी। इस जांच में आग लगने के विभिन्‍न पहलूओं पर भी विचार किया जाएगा।