आज से धोखा नहीं मिलेगा शुद्ध सरसों का तेल, ब्लेंडिंग न करने का जारी हो चुका है राजपत्र


तेल की शुद्धता की ओर बढ़ाए कदम।

भारत सरकार द्वारा आठ मार्च को राजपत्र जारी करके आठ जून से सरसों के तेल में ब्लेंडिंग न करने का आदेश दिया गया है। आदेश न मानने वाले कारोबारियों पर सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। उपभोक्ताओं का सीधा लाभ मिलेगा।

कानपुर। सरसों के तेल में अब तक फैक्ट्री वाले ब्लेंडिंग के नाम पर दूसरे खाद्य तेल भी मिला लेते थे। बोतल में जो तेल नजर आता है, उसमें मात्र कुछ फीसद ही सरसों का तेल होता है। अब मंगलवार से सरसों के तेल में किसी दूसरे तेल की ब्लेंडिंग नहीं की जा सकेगी। भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआइ) के आदेश के बाद अब जिला अभिहीत अधिकारी ने भी ब्लेंडिंग मिलने पर कार्रवाई के निर्देश जारी कर दिए हैं।

देश में सरसों के तेल में ब्लेंडिंग के नाम पर दूसरे खाद्य तेल थोड़ी मात्रा में मिलाने की अनुमति थी लेकिन इस अनुमति की आड़ में तेल कारोबारी दूसरे तेल बहुत अधिक मिला देते थे। इसे देखते हुए एफएसएसएआइ ने आठ मार्च 2021 को अधिसूचना जारी कर दी। साथ ही गजट भी जारी हो गया। इससे पहले पिछले वर्ष इस नियम के संबंध में जनता से भी फीडबैक लिया गया था। आखिरकार अब वह दिन आ ही गया जब सरसों के तेल के बोतल, पाउच या टिन पर लिखा होगा तो वह 100 फीसद सरसों का तेल ही है। इसका वास्तविक लाभ उपभोक्ता को मिलेगा क्योंकि अब सरसों का तेल बताकर उन्हें धोखा नहीं दिया जा सकेगा।

तेल के भाव भी बढ़ेंगे

अभी तक कारोबारी सरसों के तेल में दूसरे तेल मिलाकर सरसों के तेल का भाव कम कर लेते थे लेकिन अब इस पर सजा हो सकती है। सोमवार को थोक बाजार में सरसों का तेल 156 रुपये किलो था जबकि फुटकर में यह 165 से 175 के बीच था। थोक बाजार में सोमवार को दो रुपये बढ़ गए थे। वहीं मांग बढऩे से लाही भी 68 से बढ़कर 69 रुपये किलो हो गई थी।

क्या कहते हैं कारोबारी

-निर्देश की पहले से जानकारी थी, इसलिए कारोबारियों ने ब्लेंडिंग पहले से बंद कर दी थी जिससे कहीं स्टॉक पड़ा न रह जाए। ऐसे में उसे बेचना मुश्किल होता। -प्रेमकृष्ण गुप्ता बल्लू, तेल के कारोबारी।

-यह ग्राहकों के लिए बहुत अच्छा है। उन्हें पूरी तरह सही तेल ही मिलेगा। कारोबारियों के लिए भी ठीक है क्योंकि जो अच्छा काम करेंगे, वे बाजार में बने रहेंगे। -रवि गुप्ता, तेल कारोबारी।

बोले जिम्मेदार

अब आठ जून से देश में सरसों का तेल पूरी तरह शुद्ध ही बिकेगा। अगर बोतल या टिन के ऊपर सरसों का तेल लिखा है तो उसे 100 फीसद शुद्ध रखना होगा। उसमें किसी भी तरह की ब्लेंडिंग नहीं हो सकेगी। मिलावट मिलने पर कार्यवाही की जाएगी। -वीपी सिंह, जिला अभिहीत अधिकारी, कानपुर नगर।