स्कूलों ने आनलाइन किया सर्वधर्म प्रार्थना का आयोजन

 


सभी ने कोरोना से दिवंगत आत्माओं की शांति और मरीजों के जल्दी ठीक होने की कामना की।

रोहिणी स्थित माउंट आबू स्कूल की प्रधानाचार्या ज्योति अरोड़ा ने बताया कि स्कूल के कई छात्रों के अभिभावकों की कोरोना काल में मृत्यु हुई है। सभी छात्रों ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर सर्वधर्म प्रार्थना की।

नई दिल्ली।  आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना में राजधानी के स्कूल भी शामिल हुए। स्कूलों के शिक्षकों, प्रधानाचार्यों और छात्रों ने आनलाइन माध्यम से ठीक 10 बजे दो मिनट का मौन रखा। सभी ने कोरोना से दिवंगत आत्माओं की शांति और अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों के जल्दी ठीक होने की कामना की।

द्वारका स्थित श्री वेंकटेशवर इंटरनेशनल स्कूल की प्रधानाचार्या नीता अरोड़ा ने बताया कि स्कूल के नौवीं से 12वीं तक के छात्रों ने आनलाइन माध्यम से सर्वधर्म प्रार्थना में शामिल होकर कोरोना से दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की और गीत गाकर श्रद्धांजलि दी। वहीं, रोहिणी स्थित माउंट आबू स्कूल की प्रधानाचार्या ज्योति अरोड़ा ने बताया कि स्कूल के कई छात्रों के अभिभावकों की कोरोना काल में मृत्यु हुई है। सभी छात्रों ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर सर्वधर्म प्रार्थना की।वहीं, ज्योति ने प्रार्थना करने के बाद पौधरोपण कर दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि दी गई। मयूर विहार फेज-3 स्थित एवरग्रीन पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या प्रियंका गुलाटी और आइपी एक्सटेंशन स्थित नेशनल विक्टर पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या वीना मिश्रा ने बताया कि उनके स्कूल के छात्रों ने भी आनलाइन जुड़कर कोरोना से जान गवाने वाले लोगों के लिए सुबह दस बजे दो मिनट का मौन रखा। साथ ही कोरोना से पीड़ित लोगों के स्वास्थ्य लाभ की कामना की। वहीं, डीएवी एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी के छात्रों ने भी सुबह 10 बजे दो मिनट का मौन रखकर कोरोना महामारी में जान गंवा चुके लोगों के लिए प्रार्थना की।