ट्विटर के साथ गतिरोध के बाद नाइजीरिया सरकार ने कू पर बनाया आधिकारिक अकाउंट

 


इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म कू भारत से बाहर भी पंख फैला रहा है

कू के सह-संस्थापक और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्ण ने कू पर एक पोस्ट में कहा कि नाइजीरिया सरकार का आधिकारिक हैंडल अब कू पर है। मजेदार बात यह है कि उन्होंने यह जानकारी ट्विटर पर भी दी। उन्होंने ट्वीट किया कू इंडिया पर नाइजीरिया सरकार के आधिकारिक हैंडल का स्वागत है।

नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत के माइक्रोब्लागिंग प्लेटफार्म कू ने गुरुवार को बताया कि नाइजीरिया सरकार ने अपना एक आधिकारिक अकाउंट कू पर बनाया है। उसने कहा कि हमारी नजर अफ्रीकी राष्ट्र में अपने प्रसार पर है। पिछले सप्ताह नाइजीरिया सरकार ने अपने देश में अमेरिकी इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया था। ट्विटर के साथ गतिरोध की पृष्ठभूमि में सरकार ने कू में अकाउंट बनाया।

कू के सह-संस्थापक और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्ण ने कू पर एक पोस्ट में कहा कि नाइजीरिया सरकार का आधिकारिक हैंडल अब कू पर है। मजेदार बात यह है कि उन्होंने यह जानकारी ट्विटर पर भी दी। उन्होंने ट्वीट किया, कू इंडिया पर नाइजीरिया सरकार के आधिकारिक हैंडल का स्वागत है। अब हम भारत से बाहर भी पंख फैला रहे हैं। इसके पहले कू ने कहा था कि वह नाइजीरिया में उपलब्ध है और उस देश में उपयोगकर्ताओं के लिए स्थानीय भाषाओं को शामिल करने जा रहा है। कू हर उस देश के स्थानीय कानूनों का पालन करेगा जहां वह संचालित होता है।

बता दें कि अलगाववादी आंदोलन के बारे में राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी के एक विवादास्पद ट्वीट को हटाने को लेकर नाइजीरिया सरकार के साथ ट्विटर का विवाद गहरा गया था जिसके बाद सरकार ने उसकी सेवाओं को अपने देश में निलंबित कर दिया।