गूगल प्ले स्टोर से ऐप की डाउनलोडिंग के वक्त रहें सचेत, हो सकता है धोखा, पढ़ें ठगी से बचने के तरीके


साइबर एक्सपर्ट ने पवन दुग्गल की राय।

लोगों को भी अपने स्तर पर स्तर्क रहना चाहिए जिन एप का नाम अलग हो और काम अलग उस एप से तुरंत दूरी बना लेनी चाहिए। पावर बैंक एप को विशेष कर ठगने के लिए ही बनाया गया था ।

नई दिल्ली। हम आए दिन ऑनलाइन ठगी के बारे में सुनते हैं देखते हैं ऐसे में आप इस प्रकार की आनलाइन ठगी के प्रति कितना सतर्क हैं। इसको लेकर समय समय पर एक्सपर्ट लोगों को अगाह करते रहते हैं। ताजा मामला दो ऐप से ठगी का है। सबसे खास बात यह है कि यह दोनों ही ऐप गूगल के प्ले स्टोर पर उपलब्ध टॉप में बना हुआ था। जांच में इन चीनी फर्जी ऐप में जो खुलासा हुआ वह वाकई चौकाने वाला था। लाखों लोगों से करोड़ों की ठगी मामले में आइए जानते हैं एक्सपर्ट की राय। इस पूरे मामले में क्या कहते हैं साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल।

इन प्वाइंट में समझें कैसे होती है गड़बड़ी

  • गूगल प्ले स्टोर पर ठगी के ऐसे एप के रोकथाम को लेकर नहीं है कोई विशेष नियम नहीं है।
  •  
  • गूगल प्ले स्टोर का सर्वर देश में नहीं इस वजह से भी कई बार इन एप पर बैन को लेकर दिक्कत आती है।
  •  
  • इस तरह के कई एप अभी भी प्ले स्टोर मौजूद होंगे। चूकि प्ले स्टोर पर एप की निगरानी करने को लेकर सरकार के पास भी कोई नियम नहीं है ऐसे में इस तरह के एप बड़ी आसानी से प्ले स्टोर पर आकर लोगों से ठगी कर रहे है। इसको लेकर सरकार को कोई ठोस कदम उठाना होगा। 
  • पावर बैंक एप का सर्वर चीन से होस्ट होता था। और यह अप्रैल और मई माह में प्ले स्टोर पर टाप पांच एप में शामिल था। इसका प्रमुख कारण यह है कि लोगों ने इसे खूब डाउनलाेड किया। इसके साथ ही एप निर्माताओं ने इस एप को डाउनलोड करने के लिए लोगों को निवेश पर दोगुना रकम देने का वादा किया।
  • लोगों को भी अपने स्तर पर स्तर्क रहना चाहिए जिन एप का नाम अलग हो और काम अलग उस एप से तुरंत दूरी बना लेनी चाहिए। पावर बैंक एप को विशेष कर ठगने के लिए ही बनाया गया था ।